लोगों से भारत में निर्मित झंडे खरीदने की अपील कर रहे स्वयंसेवक

National flag
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर राष्ट्रीय ध्वज की बढ़ी मांग और ‘हर घर तिरंगा’ अभियान शुरू करने के कारण स्वयंसेवक पुणे के नागरिकों से चीन द्वारा निर्मित भारतीय ध्वज के बजाय स्थानीय रूप से निर्मित तिरंगे खरीदने की अपील कर रहे हैं। ये ध्वज बाजार में प्रति झंडा 30 रुपये की दर से बिक रहे हैं।

पुणे, 1 अगस्त। स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर राष्ट्रीय ध्वज की बढ़ी मांग और ‘हर घर तिरंगा’ अभियान शुरू करने के कारण स्वयंसेवक पुणे के नागरिकों से चीन द्वारा निर्मित भारतीय ध्वज के बजाय स्थानीय रूप से निर्मित तिरंगे खरीदने की अपील कर रहे हैं। ‘भारत फ्लैग फाउंडेशन’ के स्वयंसेवक लोगों और दुकानों को पर्चे बांटकर उनसे केवल ‘भारत में निर्मित’ झंडे खरीदकर ‘हर घर तिरंगा’ अभियान में शामिल होने और स्वतत्रंता दिवस मनाने के लिए कह रहे हैं।

ये ध्वज बाजार में प्रति झंडा 30 रुपये की दर से बिक रहे हैं। फाउंडेशन के कार्यकारी अध्यक्ष राहुल भालेराव ने रविवार को ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर मनाए जाने वाले ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के साथ ही तिरंगे की मांग बढ़ जाएगी और ऐसी संभावना है कि बाजार में बड़ी संख्या में चीन द्वारा निर्मित झंडे आ जाएंगे। अगर इन झंडों को खरीदा जाता है तो हम अप्रत्यक्ष रूप से चीन की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देंगे।’’ भालेराव ने कहा कि संगठन लोगों से भारतीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए स्थानीय स्तर पर निर्मित झंडे ही खरीदने की अपील कर रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़