हम दुश्मन नहीं हैं, सियासत भारत बनाम पाकिस्तान जैसी नहीं होनी चाहिए: सुखबीर बादल

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 16 2019 2:21PM
हम दुश्मन नहीं हैं, सियासत भारत बनाम पाकिस्तान जैसी नहीं होनी चाहिए: सुखबीर बादल
Image Source: Google

उन्होंने आखिरी चरण में चल रहे लोकसभा चुनाव के दौरान नेताओं पर हो रहे व्यक्तिगत हमलों और नेताओं की गुणवत्ता पर भी चिंता जाहिर की।

पन्नीवाला फट्टा (पंजाब)। लोकसभा चुनावों के दौरान राजनीतिक बयानबाजी के गिरते स्तर पर चिंता जताते हुए शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि राजनीति में “भारत बनाम पाकिस्तान” की स्थिति नहीं बननी चाहिए। भाजपा के सबसे पुराने सहयोगियों में से एक शिरोमणि अकाली दलके अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निर्णायक और मजबूत प्रधानमंत्री के तौर पर प्रशंसा की और कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद वह राजग को आगे ले जाने के लिये एक मात्र विकल्प हैं।  बादल ने कहा, “हमें मजबूत प्रधानमंत्री की जरूरत है...काफी सालों बाद हमें एक प्रधानमंत्री मिला है जो निर्णायक है। आप देश को स्वचालित तरीके से नहीं चलने दे सकते...हमें एक ऐसे नेता की जरूरत है जो देश को तेजी से वृद्धि के पथ पर ले जा सके।”

भाजपा को जिताए

 
उन्होंने आखिरी चरण में चल रहे लोकसभा चुनाव के दौरान नेताओं पर हो रहे व्यक्तिगत हमलों और नेताओं की गुणवत्ता पर भी चिंता जाहिर की।  बादल ने कहा, “हम राजनेता दुश्मन नहीं हैं...हम भारत-पाकिस्तान की तरह नहीं हैं...राजनीति भारत बनाम पाकिस्तान की तरह नहीं होनी चाहिए जो दुर्भाग्य से यह बनती जा रही है।” उन्होंने कहा कि हर किसी का अपना नजरिया होता है लेकिन इसके बावजूद हम सभी भारतीय हैं और हमारे लिये देश का हित महत्वपूर्ण है। यह पूछे जाने पर कि संभव है नतीजों के बाद राजग को नए साझीदारों की जरूरत पड़े, और नेतृत्व में बदलाव की मांग उठे, उन्होंने कहा, “लोग उनके लिये (मोदीके लिये) मतदान कर रहे हैं और वहदेश का नेतृत्व करने के लिये सही व्यक्ति हैं। मेरा मानना है कि नतीजों के बाद हमें उनके साथ जुड़े रहना चाहिए। वह एक मात्र विकल्प हैं।”


बादल 15 सालों के बाद फिरोजपुर संसदीय क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं ? यहां चुनाव के आखिरी चरण में 19 मई को मतदान होगा। पंजाब में स्थिति पर चर्चा करते हुए बादल ने कहा कि राज्य में सबसे बड़ा मुद्दा कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार की नाकामी है जो “सभी मोर्चों पर विफल” रही है। पंजाब की 13 संसदीय सीटों में से शिरोमणि अकाली दल 10 सीटों पर और भाजपा तीन सीटों पर चुनाव लड़ रही है। बादल ने कहा, “अमरिंदर सिंह देश के सबसे अक्षम मुख्यमंत्री हैं। पंजाब में मुख्यमंत्री के खिलाफ बेहद मजबूत भावना है। वह राज्य में यात्रा भी नहीं करते हैं।” गांधी परिवार के बारे में उन्होंने कहा कि वे “भावनाओं के संदर्भ में” राज्य में कांग्रेस पर बोझ हैं। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story