जम्मू-कश्मीर के औद्योगिक विकास के लिए वेब पोर्टल का शुभारंभ, निवेश को बढ़ावा मिलने की उम्मीद

जम्मू-कश्मीर के औद्योगिक विकास के लिए वेब पोर्टल का शुभारंभ, निवेश को बढ़ावा मिलने की उम्मीद

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देशभर की औद्योगिक नीतियों का विश्लेषण करके इस औद्योगिक नीति को बनाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर की जनता को जो वादा किया था वो वादा पूरा करने के लिए एक बहुत बड़ा मील का पत्थर हम आगे बढ़ा रहे हैं।

जम्मू और कश्मीर के औद्योगिक विकास के लिए नई केंद्रीय योजना के अंतर्गत पंजीकरण हेतु ऑनलाइन पॉर्टल के शुभारंभ कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल और जितेंद्र सिंह ने हिस्सा लिया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि देशभर की औद्योगिक नीतियों का विश्लेषण करके इस औद्योगिक नीति को बनाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर की जनता को जो वादा किया था वो वादा पूरा करने के लिए एक बहुत बड़ा मील का पत्थर हम आगे बढ़ा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच श्रीनगर में दो साल बाद जन्माष्टमी का जुलूस निकाला गया

अमित शाह ने कहा कि हम जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र को नीचे तक लेकर गये हैं, एक भी गोली चले बिना शांतिपूर्ण ढंग से पंचायत चुनाव हुए। पहले नेताओं से बचा हुआ पैसा लोगों तक पहुँचता था, अब विकास कार्यों का पैसा सीधा गाँव, पंचायत व ब्लॉक के खाते में जाता है जिससे जमीनी स्तर पर विकास की एक नई शुरुआत हुई है। पीएम मोदी ने देश के विकास के लिए पूरे विश्व के साथ स्पर्धा करने वाली औद्योगिक विकास नीति व योजनाएं बनाई लेकिन जम्मू-कश्मीर के युवाओं को इसका लाभ नहीं मिलता था। धारा 370 व 35A निरस्त होने के बाद यहाँ के विकास की सब अड़चने दूर हुई और आज देश की सबसे आकर्षक औद्योगिक नीति J&K में है।

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi's Newsroom। भारत के खिलाफ साजिश रच रहा मसूद अजहर, करनाल में किसानों पर लाठीचार्ज

J&K में क्या परिवर्तन आया अमित शाह ने बताया

अमित शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर में क्या परिवर्तन आया, उनको बताना चाहता हूं।

-सौभाग्य योजना से 100 % विद्युतीकरण

-सभी को स्वास्थ्य बीमा, गैस व शौचालय

-PMAY-U से 56,088 घरों व PMAY-G से 1,36,722 घरों को स्वीकृति

जो आपने 70 साल में नही किया वो पीएम मोदी ने इतने कम समय में कर दिया।

 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...