अभी दिल्ली में जारी रहेगा वीकेंड कर्फ्यू, केजरीवाल सरकार के प्रस्ताव को उपराज्यपाल ने नहीं दी मंजूरी

अभी दिल्ली में जारी रहेगा वीकेंड कर्फ्यू, केजरीवाल सरकार के प्रस्ताव को उपराज्यपाल ने नहीं दी मंजूरी

दुकानें भी अभी ऑड-इवन सिस्टम के हिसाब से ही खुल रही हैं। हालांकि, अब व्यापारियों में इसको लेकर काफी निराशा है। केजरीवाल सरकार की ओर से दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू को हटाने का उपराज्यपाल को प्रस्ताव भेजा गया था। साथ ही साथ दुकानों को भी पूरी क्षमता के साथ खोलने के लिए मंजूरी मांगी गई थी।

नए साल के शुरुआत में दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए कई पाबंदियां लगाई गई थीं। इसी दौरान दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू का भी ऐलान किया गया था। हालांकि, अब राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के नए मामलों में गिरावट देखी जा रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार की ओर से उपराज्यपाल को इन पाबंदियों को हटाने का प्रस्ताव भेजा गया था। हालांकि दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने फिलहाल इसकी मंजूरी नहीं दी है। इसका मतलब साफ है कि अभी भी दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू जारी रहेगा। साथ ही साथ बाजार भी अभी भी ऑड-इवन के फार्मूले पर ही खुलेंगे।

दिल्ली में अबे प्राइवेट दफ्तर 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ खुल सकते हैं। केजरीवाल सरकार के इस प्रस्ताव को उपराज्यपाल ने मंजूरी दे दी है। अब तक दिल्ली में निजी दफ्तरों को पूरी तरीके से बंद रखने को कहा गया था। निजी दफ्तरों को work-from-home लागू करने के लिए भी कहा गया था। दुकानें भी अभी ऑड-इवन सिस्टम के हिसाब से ही खुल रही हैं। हालांकि, अब व्यापारियों में इसको लेकर काफी निराशा है। केजरीवाल सरकार की ओर से दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू को हटाने का उपराज्यपाल को प्रस्ताव भेजा गया था। साथ ही साथ दुकानों को भी पूरी क्षमता के साथ खोलने के लिए मंजूरी मांगी गई थी।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी का कांग्रेस पर निशाना, कहा- आजादी के बाद कुछ गिने-चुने परिवारों के लिए नवनिर्माण किया गया

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के मामले दिल्ली में तो कम हुए हैं लेकिन देश में बढ़े हैं। इसके साथ ही दिल्ली में मौत के आंकड़ों में पिछले दिनों वृद्धि देखी गई है। पिछले 24 घंटे में देश में 347254 नए मामले आए हैं जबकि 703 लोगों की मौत हुई है। कल के मुकाबले देखे तो देश में 30,000 मामले बढ़े हैं। लेकिन कई महीनों बाद मौत का आंकड़ा 700 से ज्यादा हुआ है जो की चिंता बढ़ाने वाली है। राष्ट्रीय राजधानी में कल 12306 नए मामले आए थे लेकिन 46 लोगों की मौत हुई थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।