कांग्रेस अध्यक्ष के लिए कब होंगे चुनाव? जयराम रमेश ने दिया यह जवाब

Jairam Ramesh
ANI
अंकित सिंह । Aug 23, 2022 3:54PM
माना जा रहा है कि कांग्रेस को सितंबर के आखिर तक नया अध्यक्ष मिल सकता है। कांग्रेस के बड़े नेता लगातार अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी के नाम का समर्थन कर रहे हैं। चुनाव तारीखों को लेकर कांग्रेस की एक बैठक भी होने वाली है। माना जा रहा है कि विस्तृत कार्यक्रम अगले तीन-चार दिनों में घोषित किया जा सकता है।

2019 से कांग्रेस का अध्यक्ष पद खाली है। सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर कार्य कर रही हैं। 2019 लोकसभा चुनाव में मिली हार की जिम्मेदारी देख लेते हुए राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद से यह पद लगातार खाली है। इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल यही है कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव कब होंगे? इसको लेकर कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश का एक बयान सामने आया है। जयराम रमेश ने कहा कि अध्यक्ष चुनाव की प्रक्रिया 20 अगस्त से शुरू होगी और 21 सितंबर को समाप्त हो जाएगी। लेकिन इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सटीक तारीख कुछ ही दिनों में आ जाएगी। बाकी देखते हैं आगे क्या होगा। 

इसे भी पढ़ें: 7 सितबंर शुरू होगी भारत जोड़ो यात्रा, कांग्रेस ने लॉन्च किया लोगो और कैंपेन

माना जा रहा है कि कांग्रेस को सितंबर के आखिर तक नया अध्यक्ष मिल सकता है। कांग्रेस के बड़े नेता लगातार अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी के नाम का समर्थन कर रहे हैं। चुनाव तारीखों को लेकर कांग्रेस की एक बैठक भी होने वाली है। माना जा रहा है कि विस्तृत कार्यक्रम अगले तीन-चार दिनों में घोषित किया जा सकता है। कांग्रेस कार्य समिति ने पिछले साल जिस प्रस्ताव को मंजूरी दी थी उसके अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव की पूरी प्रक्रिया 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच संपन्न होनी है। कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने हाल ही में कहा था कि पार्टी अध्यक्ष के चुनाव की अंतिम तारीख को मंजूरी देना कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) पर निर्भर है, जो 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच कोई भी दिन हो सकता है।

'भारत जोड़ो' पर बयान

कांग्रेस महासचिव संचार प्रभारी जयराम रमेश ने 'भारत जोड़ो' कार्यक्रम पर कहा कि यह समय की मांग है। महंगाई, जीएसटी, बेरोजगारी भारत को तोड़ रही है। धर्म, जाति, भाषा, भोजन, कपड़े के नाम पर सामाजिक ध्रुवीकरण किया जा रहा है। राजनीति में केंद्र का दबदबा है। यह कांग्रेस पार्टी की यात्रा है लेकिन हमने सभी दलों से शामिल होने का अनुरोध किया है, हमने सिविल सोसाइटी से भी अपील की है। हमारा उद्देश्य कांग्रेस संगठन को मजबूत करना है और हमें जनता के बीच जाने का अवसर मिले। यह कन्याकुमारी से कश्मीर तक की 150 दिनों की लंबी यात्रा है। उन्होंने साफ कहा कि यह एक जन आंदोलन है - लोगों में जागरूकता पैदा करने और संगठन को मजबूत करने के लिए। हमें आक्रामक होने की जरूरत है, यह एक तरह से 2024 के चुनाव की तैयारी है। 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस नेता के मांस खाकर मंदिर जाने पर छिड़ा विवाद, सिद्धारमैया ने कहा- भगवान ने यह थोड़ी कहा है कि क्या खाना चाहिए

अध्यक्ष पद स्वीकार करें राहुल : गहलोत

कांग्रेस के नए अध्यक्ष को लेकर जारी सरगर्मियों के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि पार्टी में एकजुट राय राहुल गांधी को अध्यक्ष बनने में है और देश भर में कांग्रेसियों की भावनाओं को समझते हुए राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष का पद स्वीकार कर लेना चाहिए। साथ ही गहलोत ने कहा कि अगर राहुल पार्टी के अध्यक्ष नहीं बनते हैं तो इससे कांग्रेस से जुड़े लोग निराश होंगे। पार्टी के नए अध्यक्ष को लेकर अटकलों के बारे में पूछे जाने पर गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी को ही अध्यक्ष बनना चाहिए। 

अन्य न्यूज़