• इंदौर में चार लोगों की मौत के पीछे एक ही ब्रांड की नकली व्हिस्की का हाथ होने का संदेह

पुलिस ने शुक्रवार को बड़ा खुलासा किया कि इंदौर में अलग-अलग घटनाक्रमों में शराब पीने के बाद दम तोड़ने वाले चार लोगों ने एक ही ब्रांड की व्हिस्की का सेवन किया था।

इंदौर (मध्य प्रदेश)। पुलिस ने शुक्रवार को बड़ा खुलासा किया कि इंदौर में अलग-अलग घटनाक्रमों में शराब पीने के बाद दम तोड़ने वाले चार लोगों ने एक ही ब्रांड की व्हिस्की का सेवन किया था। पुलिस इस व्हिस्की के नकली और जीवन के लिए हानिकारक होने के संदेह को लेकर विस्तृत जांच कर रही है। पुलिस अधीक्षक महेशचंद्र जैन ने संवाददाता सम्मेलन में बताया, हमारी जांच से पता चला है कि शहर के दो बार में व्हिस्की के एक ही ब्रांड की शराब पीने के बाद हफ्ते भर के भीतर चार लोगों की मौत हो गई। इससे प्रबल संदेह है कि इन लोगों ने जो शराब पी, वह नकली और जीवन के लिए हानिकारक थी।

इसे भी पढ़ें: छोटे शहरों में कोविड टीकाकरण का बढ़ावा देने के लिए सीरम और CII ने मिलाया हाथ

जैन ने बताया कि चार लोगों की मौत के पीछे एक ही ब्रांड की नकली व्हिस्की का हाथ होने की तसदीक के लिए मृतकों के विसरा की जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि स्थानीय स्तर पर संबंधित व्हिस्की ब्रांड की नकली शराब बनाकर इसकी अवैध खरीद-फरोख्त को लेकर भी पुलिस विस्तृत छानबीन कर रही है। पुलिस अधीक्षक ने बताया, छोटा बांगड़दा क्षेत्र के एक बार के संचालकों से पूछताछ पर पता चला है कि उन्होंने लायसेंसी दुकानों के अलावा अन्य व्यक्तियों से भी संबंधित ब्रांड की व्हिस्की खरीदी थी। इससे हमारे संदेह को बल मिलता है कि इस ब्रांड की नकली शराब बनाई जा रही है जो जीवन के लिए हानिकारक है।

इसे भी पढ़ें: जम्मू : अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास ड्रोन दिखने के बाद सुरक्षाबलों का तलाश अभियान

जैन ने बताया कि पिछले सात दिनों में शहर के दो बार में शराब पीने के अलग-अलग घटनाक्रमों में सागर (30), शिशिर तिवारी (30), सचिन गुप्ता (39) और शिवरतन (30) की मौत हो चुकी है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सागर और तिवारी छोटा बांगड़दा क्षेत्र के एक बार में अपने दोस्तों के साथ शराब पार्टी में शामिल हुए थे, जबकि गुप्ता और शिवरतन ने मरीमाता इलाके के एक बार में अलग-अलग दिन शराब पी थी।