विश्वेश्वरैया भवन में आग का जिम्मेदार कौन? 10 घंटे तक उठती रही लपटें, तेज प्रताप ने लगाया घोटाले की फाइल जलाने का आरोप

विश्वेश्वरैया भवन में आग का जिम्मेदार कौन? 10 घंटे तक उठती रही लपटें, तेज प्रताप ने  लगाया घोटाले की फाइल जलाने का आरोप
Creative Common

बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने शाम पांच बजे घटना स्थल का मुआयना किया और अधिकारियों को निर्देश देते दिखे। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि यहां सुबह से रुक-रुक कर आग लग रही है।

बिहार की राजधानी पटना के सचिवालय के पास आग का भीषण तांडव देखने को मिला है। सचिवालय के पास विश्वेश्वरैया भवन में आग लग गई। बिल्डिंग में कई सरकारी विभागों के दफ्तर मौजूद हैं। आग की लपटों पर काबू पाने के लिए फायर बिग्रेड की टीम मौके पर पहुंची। सुबह पौने आठ बजे लगी भीषण आग अगले 10 घंटों तक बेकाबू रही। आग इतना खतरनाक था कि पथ निर्माण, ग्रामीण कार्य और भवन निर्मण की करीब सभी फाइलें और कंप्यूटर जल कर खाक हो गए। शाम पांच बजे तक बहुमंजिली इमारत से आग की लपटें उठती रहीं। पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि 'सातवीं मंजिल पर 2 बच्चे फंसे हुए थे जिन्हें निकाल लिया गया है। आग पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं। प्रयास है कि आग को जल्द से जल्द काबू कर लें। प्रथम दृष्टया बताया जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट से आग लगी है, ये जांच का विषय है।

इसे भी पढ़ें: पोखरण परमाणु परीक्षण के पुरे हुए 24 साल, PM मोदी ने वैज्ञानिकों को दी बधाई, अटल बिहारी वाजपेयी बने थे प्रत्यक्षदर्शी

 सरकारी भवन में  इतनी देर तक आगजनी की घटना कभी नहीं हुई: नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने शाम पांच बजे घटना स्थल का मुआयना किया और अधिकारियों को निर्देश देते दिखे। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि यहां सुबह से रुक-रुक कर आग लग रही है। सरकारी भवन में इतनी देर तक आग लगी होने की घटना कभी नहीं हुई इसलिए मैं खुद स्थिती का जायजा लेने आया हूं। दमकल के लोग स्थिती पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं। थोड़ा समय और लगेगा, सारे अधिकारी यहां मौजूद हैं।

 आरजेडी नेता का बड़ा आरोप

आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव ने नीतीश सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार ने ये आग घोटाले की फाइलों को जलाने के लिए लगाई है।  उन्होंने कहा है कि घोटाले की फाइल को दबाने के लिए यह आग लगा दी गई है। आग लगी नहीं है, बल्कि लगाई गई है। तेज प्रताप ने आग लगने की घटना की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।