नवनीत राणा और उनके विधायक पति को कोर्ट ने लगाई फटकार, पूछा- क्यों न गैर-जमानती वारंट जारी किया जाए

नवनीत राणा और उनके विधायक पति को कोर्ट ने लगाई फटकार, पूछा- क्यों न गैर-जमानती वारंट जारी किया जाए
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

महाराष्ट्र पुलिस ने अदालत में राणा दंपत्ति के खिलाफ अर्जी दाखिल की है। जिसमें उन्होंने राणा दंपत्ति पर जमानत की शर्त का उल्लंघन करने का आरोप लगाया और जमानत रद्द करने की मांग की। पुलिस का कहना है कि राणा दंपति के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया जाना चाहिए।

मुंबई। अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। आपको बता दें कि महाराष्ट्र पुलिस ने अदालत में एक अर्जी दाखिल की है। जिसमें पुलिस ने कहा कि नवनीत राणा और रवि राणा ने जमानत की शर्त का उल्लंघन किया है। जिसके बाद अदालत ने राणा दंपति के खिलाफ नोटिस जारी करते हुए पूछा कि क्यों न आपकी जमानत को रद्द किया जाए। 

इसे भी पढ़ें: नवनीत राणा ने दी उद्धव ठाकरे को चुनौती, कहा- हिम्मत है तो मेरे खिलाफ चुनाव जीतकर दिखाएं 

अदालत ने लगाई राणा दंपत्ति को फटकार

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, महाराष्ट्र पुलिस ने अदालत में राणा दंपत्ति के खिलाफ अर्जी दाखिल की है। जिसमें उन्होंने राणा दंपत्ति पर जमानत की शर्त का उल्लंघन करने का आरोप लगाया और जमानत रद्द करने की मांग की। पुलिस का कहना है कि राणा दंपति के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया जाना चाहिए।

अदालत ने विधायक रवि राणा और सांसद नवनीत राणा को नोटिस जारी कर उनसे पूछा है कि उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट क्यों नहीं जारी किया जाना चाहिए क्योंकि उन्होंने कथित तौर पर उन्हें दी गई जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया है। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली पहुंचने से पहले नवनीत राणा का तंज, किसी काम के नहीं हैं उद्धव, फडणवीस से सीखना चाहिए राज्य कैसे चलाया जाता है 

गौरतलब है कि नवनीत राणा को महाराष्ट्र की एक अदालत ने उद्धव ठाकरे के आवास के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ संबंधित मामले में सशर्त जमानत दी थी। मुंबई पुलिस ने राणा दंपत्ति को उनके आवास से गिरफ्तार किया था। भायखला जेल से रिहा होने के बाद नवनीत राणा को मेडिकल चेकअप के लिए लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस दौरान उनकी रोते हुए एक तस्वीर सामने आई थी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...