Snowfall in Delhi: तापमान माइनस में जाने के बाद भी दिल्ली में कभी क्यों नहीं हो सकती बर्फबारी? ये है वजह

delhi weather
Prabhasakshi
अभिनय आकाश । Jan 17, 2023 7:29PM
क्या आप जानते हैं, दिल्ली में कभी भी बर्फ़बारी नहीं देखी जा सकती है, भले ही यह वास्तव में कितनी भी ठंड हो। क्या है इसके पीछे की वजह आइए जानते हैं।

राष्ट्रीय राजधानी में शीतलहर जारी रहने के साथ ही न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिल्ली में एक दिन पहले न्यूनतम तापमान 1.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। मौसम विभाग की तरफ से लगाए गए अनुमान के अनुसार दिल्ली का न्यूनतम तापमान 15 से 19 जनवरी के बीच 5 से माइनल 1 डिग्री तक जा सकता है। वहीं राजस्थान के इलाकों में ये 3 से माइनस 4 तक जा सकता है। तापमान माइनस में आते ही लोग बर्फबारी के बारे में सोचते हैं। हालाँकि, क्या आप जानते हैं, दिल्ली में कभी भी बर्फ़बारी नहीं देखी जा सकती है, भले ही यह वास्तव में कितनी भी ठंड हो। क्या है इसके पीछे की वजह आइए जानते हैं। 

इसे भी पढ़ें: Kanjhawala Accident Case: आरोपियों पर लगी धारा 302, हत्या का चलेगा मामला

दिल्ली में कभी बर्फ़बारी क्यों नहीं होती?

यहां तक ​​कि अगर तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस या उससे नीचे चला जाता है, तो भी दिल्ली में कभी भी बर्फबारी का अनुभव नहीं हो सकता है। इसके पीछे भौगोलिक कारणों के साथ-साथ मौसम संबंधी कई तकनीकी कारण भी हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा कि बर्फबारी एक तरह की वर्षा है जिसे बादलों की जरूरत होती है। महापात्रा ने कहा कि दिल्ली जैसे मैदानी इलाकों में बादलों को बनने की जरूरत होती है। अगर सर्दियों के दौरान दिल्ली में आसमान में बादल छाए रहते हैं, तो बादल गर्मी को रोक लेते हैं। बर्फबारी के लिए जमीनी स्तर पर भी तापमान उप-शून्य होना चाहिए, यानी ठंड के तापमान पर या उससे नीचे, जो कि राष्ट्रीय राजधानी में बहुत कम होता है।

इसे भी पढ़ें: Delhi govt vs LG: टीचर्स के दौरे को लेकर LG पर भड़के केजरीवाल, कहा- कौन हैं ये, हमारे सिर पर आकर बैठ गए हैं

आमतौर पर हिमालय में बर्फबारी के बाद मैदानी इलाकों में तापमान माइनस में चला जाता है, जब ठंडी बर्फीली हवाएं उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों की ओर मुड़ जाती हैं। सामान्यतः यह वायु शुष्क होती है तथा इसके साथ बादलों का निर्माण नहीं होता है। इस कारण कई जगहों पर तापमान गिर जाता है लेकिन हिमपात जैसे हालात पैदा नहीं होते। दिल्ली एक अत्यंत शुष्क शहर है और जनवरी में सर्दी अपने चरम पर होती है जब हिमालय से बर्फीली हवाएं मैदानी इलाकों में चलती है। जिससे तापमान कम हो जाता है। इसका मतलब ये नहीं है कि दिल्ली में बर्फबारी होगी। 

अन्य न्यूज़