माल्या का PM मोदी से सवाल, बैंकों से उनकी पेशकश स्वीकार करने को क्यों नहीं कह रहे

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 14 2019 5:11PM
माल्या का PM मोदी से सवाल, बैंकों से उनकी पेशकश स्वीकार करने को क्यों नहीं कह रहे
Image Source: Google

ब्रिटेन सरकार ने भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत को सौंपने का निर्देश दिया है जिससे उसके खिलाफ धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग का मामला चलाया जा सके।

लंदन। भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने एक बार फिर से सोशल मीडिया के जरिये भारत सरकार को संदेश दिया है। इस बार माल्या ने अपने संदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसद में संबेाधन का सीधा उल्लेख किया है। माल्या (63) ब्रिटेन सरकार के उनके प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ अपील करने की प्रक्रिया में हैं। ब्रिटेन सरकार ने माल्या को भारत को सौंपने का निर्देश दिया है जिससे उसके खिलाफ धोखाधड़ी और मनी लांड्रिंग का मामला चलाया जा सके। माल्या ने एक बार फिर अपना यह दावा दोहराया कि वह अब ठप खड़ी किंगफिशर एयरलाइंस के बकाया कर्ज के भुगतान के लिए पैसा सामने रखने को तैयार हैं। 

इसे भी पढ़ें : प्रत्यर्पण आदेश के खिलाफ अपील करेगा भगोड़ा विजय माल्या

बुधवार देर रात कई ट्वीट कर माल्या ने कहा, ‘प्रधानमंत्री के संसद में भाषण पर मेरा ध्यान दिलाया गया है। वह काफी अच्छे वक्ता हैं। मोदी ने बिना नाम लिए कहा है कि एक व्यक्ति 9,000 करोड़ रुपये लेकर भाग गया। मीडिया में जैसी चर्चा चलती है उससे मैं अंदाजा लगा सकता हूं कि वह मेरा उल्लेख कर रहे थे।’ माल्या ने कहा कि अपने पहले के ट्वीट के बाद मैं एक बार फिर से पूरे सम्मान के साथसे प्रधानमंत्री से जानना चाहता हूं कि वह अपने बैंकों को यह निर्देश क्यों नहीं दे रहे हैं कि मैंनेजो पैसा मेज पर रखा है वे वह स्वीकार क्यों नहीं करते। इससे वे किंगफिशर को कर्ज के रूप में दिए गए सार्वजनिक धन की पूरी वसूली का श्रेय ले सकते हैं।



माल्या पूर्व में मोदी को पत्र भेजकर कह चुके हैं कि भारत सरकार को उनकी पेशकश स्वीकार करनी चाहिए। उन्होंने फिर कहा कि वह इस तरह की पेशकश कर्नाटक उच्च न्यायालय के समक्ष भी कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि इसे हल्की पेशकश नहीं कहा जा सकता। यह पूरी तरह स्पष्ट, ईमानदारी के साथ की गयी पेशकश है। इसे स्वीकार किया जा सकता है। माल्या ने कहा कि अब स्थिति पहले के उलट है। बैंक किंगफिशर को दिए गए कर्ज को वापस क्यों नहीं लेना चाहते हैं। भारतीय अदालतों में चल रहे मौजूदा घटनाक्रमों पर माल्या ने कहा कि वह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के इस दावे से हैरान हैं कि मैंने अपनी संपत्तियां छिपाई हैं।

इसे भी पढ़ें : मोदी सरकार की बड़ी कामयाबी, विजय माल्या को भारत प्रत्यर्पित करेगा ब्रिटेन

उन्होंने लिखा कि यदि मैंने अपनी संपत्तियां छिपाई होती तो मैं खुले रूप से अदालत के समक्ष 14,000 करोड़ रुपये की संपत्तियां कैसे रख सकता। बेशर्मी से लोगों को भ्रमित किया जा रहा है, लेकिन यह हैरान करने वाला नहीं है। माल्या ने अपने संदेश के साथ ऊटी की किंग स्टार चॉकलेट का रैपर फोटो भी डाला है। बचपन में वह इसी शहर में रहे। माल्या ने लिखा कि मेरे दोस्त ने मेरी पसंदीदा चॉकलेट भेजी है।  

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video