दिल्ली में क्यों 16 मई तक बढ़ाया जाना चाहिए लॉकडाउन, जानिए कोरोना पैनल चीफ का क्या है सोचना?

दिल्ली में क्यों 16 मई तक बढ़ाया जाना चाहिए लॉकडाउन, जानिए कोरोना पैनल चीफ का क्या है सोचना?

कोरोना के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं और जहां तक बात देश की राजधानी दिल्ली की है तो संक्रमितों का आंकड़ा ढाई हजार के पार पहुंत चुका है और मृतकों की संख्या 53 हो गई है। संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए ऐसे आसार नजर आ रहे हैं कि 03 मई के लॉकडाउन को आगे बढ़ाया जा सकता है।

देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले 24 घंटे में 1429 नए मामले सामने आए हैं और 57 लोगों की मौत हो गई है। इसके साथ ही देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 24,506 हो गई है, जिसमें 18,668 सक्रिय हैं, 5,063 लोग स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 775 लोगों की मौत हो गई है। देश इस वक्त लॉकडाउन 1 से निकलकर लॉकडाउन 2.0 में चल रहा है और जिसकी अवधी 3 मई तक की है। कोरोना के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं और जहां तक बात देश की राजधानी दिल्ली की है तो संक्रमितों का आंकड़ा ढाई हजार के पार पहुंच चुका है और मृतकों की संख्या 53 हो गई है। संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए ऐसे आसार नजर आ रहे हैं कि 03 मई के लॉकडाउन को आगे बढ़ाया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: तैयारियों में जुटी DIAL, बिना मास्क के एयरपोर्ट में नहीं मिलेगी यात्रियों को एंट्री ! पढ़ें पूरी रिपोर्ट

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली सरकार की कोविड-19 कमेटी में शामिल अधिकारी ने लॉकडाउन को मई के मध्य तक कायम रखने की बात कही है तभी कोरोना इंफेक्शन के ग्राफ को नीचे किया जा सकता है। दिल्ली में कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए लॉकडाउन को 16 मई तक के लिए बढ़ाया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना का असर, आर्थिक संकट के कगार पर पहुंची क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की स्थिति

कोरोना पैनल के चेयरमैन डॉक्टर एस के सरीन ने अखबार को दिए बयान में कहा कि  दिल्ली में कोरोना का पहला केस 3 मार्च को आया था। महामारी के चीन के रिकॉर्ड पर नजर डालें तो वहां इसके ग्राफ को नीचे आने में कम से कम 10 हफ्ते लग गए थे। इसलिए दिल्ली में भी ऐसा हो सकता है। लॉकडाउन को 16 मई तक जारी रखना होगा, उम्मीद की जा रही है कि उसके बाद कोरोना का ग्राफ नीचे जाना शुरू होगा।

इसे भी पढ़ें: लॉकडाउन से पहले अवकाश पर गए 15 पुलिसकर्मियों को अमेठी में पृथक-वास में रखा गया

24 अप्रैल तक दिल्ली में 2,514 कोविड -19 मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं संक्रमण से मरने वालों की संख्या 50 से ज्यादा है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार दिल्ली में अब तक 50 वर्ष से कम आयु के 1646 संक्रमित मरीज मिले हैं जिनमें से 10 लोगों की मौत हो चुकी है। इन 10 में से 9 लोग ऐसे थे जिन्हें पहले से बीमारियां थीं। ठीक इसी तरह 50 से 59 वर्ष की आयु के 409 में से 14 मरीजों की मौत हो चुकी है। जबकि 60 या उससे ऊपर आयुवर्ग के 459 में से 29 मरीजों की मौत हो चुकी है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।