JNU पर मुखर रहने वाले बीफ फेस्ट पर खामोश क्यों: योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वध के लिये पशु बाजार से जानवर खरीदने पर रोक लगाये जाने के विरोध में केरल में ‘बीफ फेस्ट’ के आयोजन पर सवाल उठाये हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वध के लिये पशु बाजार से जानवर खरीदने पर रोक लगाये जाने के विरोध में केरल में ‘बीफ फेस्ट’ के आयोजन पर सवाल उठाये हैं। योगी ने रविवार रात भाजपा के सहयोगी संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (अभाविप) द्वारा आयोजित अभिनन्दन समारोह में कहा ‘‘दिल्ली विश्वविद्यालय और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय की घटनाओं पर बोलने वाले इस घटना (बीफ फेस्ट) पर मौन क्यों हैं?’’

उन्होंने कहा कि देश में हर षड्यंत्र पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् मुखर होकर सामने आती रही है। राष्ट्रवाद इस देश की मूल परम्परा रही है और अभाविप इसे शुरू से ही अपना रही है। ज्ञातव्य है कि योगी आदित्यनाथ ने गत 19 मार्च को सत्ता में आते ही गौ वध पर सख्ती से रोक लगाते हुए अवैध रूप से संचालित किये जा रहे सभी बूचड़खानों को बंद करा दिया था। केन्द्र सरकार द्वारा लगायी गयी पाबंदी के विरोध में केरल में बीफ फेस्ट (गोमांस भोज) आयोजित किये गये थे। युवक कांग्रेस के एक कार्यकर्ता और उसके साथियों ने कन्नूर में कथित रूप से सार्वजनिक तौर पर एक बछड़े का वध कर दिया था। केरल पुलिस ने बाद में युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़