उत्तराखंड के आतंकवादी रोधी दस्ते में अदम्य साहस के साथ महिला कमांडो हुई शामिल

 Uttarakhand anti-terrorist squad
रेनू तिवारी । Feb 25, 2021 12:50PM
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 24 फरवरी को उत्तराखंड की महिला कमांडो फोर्स और स्मार्ट चीता पुलिस को उत्तराखंड पुलिस में शामिल किया। कमांडो को खराब स्थिति में अपने कर्तव्यों का पालन करने के लिए ठोस प्रशिक्षण दिया गया है।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 24 फरवरी को उत्तराखंड की महिला कमांडो फोर्स और स्मार्ट चीता पुलिस को उत्तराखंड पुलिस में शामिल किया।  कमांडो को खराब स्थिति में अपने कर्तव्यों का पालन करने के लिए ठोस प्रशिक्षण दिया गया है। उद्घाटन समारोह के दौरान महिला कमांडो ने साहसी स्टंट दिखाए। एक जिम्नास्टिक ड्रिल का प्रदर्शन करते हुए महिला कमांडो आग की चरकी के अंदर से कूद गई। उत्तराखंड देश का चौथा राज्य बन गया है, जहां पुलिस विभाग में महिला कमांडो का एक दस्ता जोड़ा गया है। 

इसे भी पढ़ें: पेरिस ओलंपिक 2024 से बाहर हो सकता है भारोत्तोलन, IOC ने जताई चिंता 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पुलिस लाइन में आयोजित एक समारोह में कहा कि उत्तराखंड देश का चौथा राज्य है। बल में 22 अच्छी तरह से प्रशिक्षित महिला कमांडो हैं जो युवा लड़कियों को आत्मरक्षा तकनीकों और शारीरिक चुस्ती-फुर्ती में प्रशिक्षित करने में बड़ी भूमिका निभा सकती हैं। रावत ने महिला कमांडो को प्रशिक्षण देने के लिए प्रशिक्षकों शिफू शौर्य भारद्वाज और रुबीना कोर्की को भी सम्मानित किया।

इसे भी पढ़ें: फेसबुक ने म्यांमार तख्तापलट के बाद उठाया बड़ा कदम, बंद किए सेना के सभी खाते 

डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि ऐसे समय में जब आतंकवादी संगठन महिलाओं के गुर्गों का इस्तेमाल कर रहे हैं, आतंकवाद निरोधी अभियानों में एक सर्व-महिला कमांडो बल बहुत प्रभावी हो सकता है। इस अवसर पर पुरुषों और महिला कर्मियों दोनों से युक्त एक स्मार्ट चीता पुलिस भी लॉन्च की गई।

 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़