पंजाब में महिला स्वास्थ्य अधिकारी की गोली मारकर हत्या, आरोपी ने खुद को भी मारी गोली

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 30, 2019   10:51
पंजाब में महिला स्वास्थ्य अधिकारी की गोली मारकर हत्या, आरोपी ने खुद को भी मारी गोली

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि मोरिंडा के रहने वाले आरोपी बलविंदर सिंह ने अधिकारी के कार्यालय में सुबह 11 बजकर 40 मिनट पर घुसकर अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से नेहा को तीन गोलियां मारीं।

चंडीगढ़। पंजाब के खरड़ में एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी की शुक्रवार को उनके कार्यालय में एक व्यक्ति ने गोली मारकर हत्या कर दी। आरोपी ने बाद में खुद को भी गोली मार ली और उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।पुलिस ने कहा कि अधिकारी नेहा शौरी खरड़ में दवा एवं खाद्य रासायनिक प्रयोगशाला में तैनात थी और वह मोहाली तथा रोपड़ जिलों के लाइसेंस का काम संभालती थी।

इसे भी पढ़ें: विजय माल्या की मुश्किलें बढ़ी, अदालत ने दिया संपत्तियाों को कुर्क करने का आदेश

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि मोरिंडा के रहने वाले आरोपी बलविंदर सिंह ने अधिकारी के कार्यालय में सुबह 11 बजकर 40 मिनट पर घुसकर अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से नेहा को तीन गोलियां मारीं। पुलिस ने कहा कि हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू की गई है।

इसे भी पढ़ें: ट्रम्प के चुनाव प्रचार के प्रमुख रहे मैनफोर्ट को 47 महीने की सजा

शुरुआती जांच में पता चला कि आरोपी मोरिंडा में दवा की दुकान चलाता था और 2009 में नेहा ने उसकी दुकान पर छापा मारा था और वहां से कथित रूप से नशीली दवाएं बरामद की थीं। इसके बाद नेहा ने उसके दवा दुकान का लाइसेंस रद्द कर दिया था। हत्या की मंशा का पता नहीं लगा है लेकिन लाइसेंस रद्द करने को ही हत्या की वजह माना जा रहा है।

दूसरी ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रदेश के पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता को अधिकारी की हत्या के मामले की जांच शीघ्र पूरी करने का निर्देश दिया है ।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।