योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर लगाया विभाजनकारी राजनीति करने का आरोप

Yogi Adityanath
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर विभाजनकारी राजनीति करने का आरोप लगाते हुए बुधवार को कहा कि ऐसी मानसिकता ने ही हमेशा राष्ट्रीय सुरक्षा के सामने गंभीर संकट खड़ा किया है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस पर विभाजनकारी राजनीति करने का आरोप लगाते हुए बुधवार को कहा कि ऐसी मानसिकता ने ही हमेशा राष्ट्रीय सुरक्षा के सामने गंभीर संकट खड़ा किया है। मुख्यमंत्री ने विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर अपने वक्तव्य में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा, कुछ लोगों को भारत की प्रगति बहुत अच्छी नहीं लगती। मैं एक राष्ट्रीय पार्टी के नेता का वक्तव्य सुन रहा था।

इसे भी पढ़ें: नारायणसामी के इस्तीफे के बाद पुडुचेरी में राष्ट्रपति शासन, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी

उत्तर प्रदेश ने उनको कई बार सांसद बनाया। वह केरल में जाकर उत्तर प्रदेश के लोगों की खिल्ली उड़ा रहे हैं। बांटने का कार्य कर रहे हैं और वह भी अमेरिकी छात्रों से बातचीत करते हुए। उन्होंने कहा, अमेठी और उत्तर प्रदेश के लोगों को कौन लोग अपमानित कर रहे हैं। कांग्रेस आखिर क्या करना चाहती है। यह विभाजनकारी राजनीति क्यों? आप कभी अमेरिकी राजदूत के सामने भारत की निंदा करते हुए कहते हैं कि हमें लश्कर-ए-तैयबा और अन्य आतंकवादी संगठनों से खतरा नहीं है, बल्कि भारत के अंदर के संगठनों से खतरा हो गया। हमें आश्चर्य होता है कि यह कैसी विभाजन की राजनीति है उन्होंने आरोप लगाया, विदेशी राजदूतों के सामने भारत के संगठनों को कटघरे में खड़ा करना, भारत को अपमानित करना, जब सेना सीमा पर लड़ रही हो और दुश्मन देशों को मुंहतोड़ जवाब दे रही हो तब सेना के जवानों को हतोत्साहित करना कौन सी मानसिकता है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा नेता का बयान, किसान कानून को लेकर भ्रम फैलाया गया है, किसान अपनी जमीन खो देगा

यही मानसिकता है, जिसने हमेशा राष्ट्रीय सुरक्षा के सामने गंभीर संकट खड़ा किया है। इस पर कांग्रेस के सदस्यों ने विरोध जताते हुए इस आरोप को गलत बताया। विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने शोर मचा रहे सदस्यों से शांत रहने का आग्रह किया। इस पर, मुख्यमंत्री ने कहा, मैंने किसी का नाम तो नहीं लिया.... फिर यह कहावत चरितार्थ हो गई है कि चोर की दाढ़ी में तिनका।

मुख्यमंत्री ने मंगलवार को मथुरा गयीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा की तरफ इशारा करते हुए कहा यह कैसा राजनीतिक संस्कार है कि आप उत्तर प्रदेश में जब आएंगे तब मंदिर भी याद आने लगता है। तब कहेंगे कि वृंदावन को बचाओ। वृंदावन को आप क्या बचाएंगे। वह तो भगवान कृष्ण की लीला भूमि है जब कंस उसका बाल बांका नहीं कर पाया है तो आप क्या कर पाएंगे। उन्होंने प्रियंका पर कोविड-19 महामारी के दौरान भी प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए 1000 बसें उपलब्ध कराने के नाम पर प्रदेश की जनता के साथ मजाक करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन वाहनों की जांच में पता लगा कि जो बस का नंबर बताया गया वह दरअसल स्कूटर का था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़