योगी का निर्देश, पूरी क्षमता से कार्य करें सभी जांच प्रयोगशालाएं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 25, 2020   16:59
योगी का निर्देश, पूरी क्षमता से कार्य करें सभी जांच प्रयोगशालाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरसात के मौसम के मद्देनजर स्वच्छता के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। ग्रामीण और शहरी इलाकों में साफ-सफाई और संक्रमणमुक्ति का कार्य निरंतर जारी रखा जाए। संचारी रोगों की रोकथाम के लिए सभी उपाय सुनिश्चित किए जाएं।

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर जांच क्षमता में वृद्धि के लिए निरंतर प्रयास किया जाए और अधिक से अधिक नमूनों की जांच के लिए सभी जांच प्रयोगशालाएं पूरी क्षमता से कार्य करें। योगी ने जांच प्रयोगशालाओं में सभी उपकरणों को क्रियाशील रखने तथा पर्याप्त मानव संसाधन की उपलब्धता बनाए रखने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री यहां एक उच्चस्तरीय बैठक में ‘अनलॉक’ व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एक लाख से अधिक चिकित्सीय परीक्षण टीम कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने की एक महत्वपूर्ण कड़ी हैं। इस व्यवस्था को सक्रिय एवं सुदृढ़ बनाते हुए अधिक से अधिक चिकित्सीय परीक्षण का कार्य किया जाए। टीमों के पास ‘इन्फ्रारेड थर्मामीटर’ तथा ‘पल्स ऑक्सीमीटर’ की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

मुख्यमंत्री ने चिकित्सा परीक्षण टीम तथा एम्बुलेंस सेवा के मध्य बेहतर समन्वय पर बल देते हुए कहा कि इससे लोगों को आवश्यकतानुसार उपचार सुलभ कराने में सुविधा होगी। योगी ने जनपद गौतमबुद्ध नगर तथा गाजियाबाद सहित पूरे मेरठ मण्डल में विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए और कहा कि संबंधित जिलों में कारगर रणनीति लागू कर संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने तथा उपचार व्यवस्था को बेहतर बनाने के प्रभावी प्रयास सुनिश्चित किए जाएं। उन्होंने कहा कि भौतिक दूरी का पालन हर हाल में सुनिश्चित किया जाए। पीएसी सहित सभी बलों की बैरकों में भौतिक दूरी का कड़ाई से पालन कराया जाए। नियमित गश्त कर इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाए कि कहीं भीड़ एकत्र न होने पाए। योगी ने कहा कि निषिद्ध क्षेत्रों में पूरी सख्ती बरतते हुए यह भी सुनिश्चित किया जाए कि वहां लोगों को आवश्यक सामग्री की उपलब्धता में कोई दिक्कत न हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि बरसात के मौसम के मद्देनजर स्वच्छता के लिए विशेष प्रयास किए जाएं। ग्रामीण और शहरी इलाकों में साफ-सफाई और संक्रमणमुक्ति का कार्य निरंतर जारी रखा जाए। संचारी रोगों की रोकथाम के लिए सभी उपाय सुनिश्चित किए जाएं। 

इसे भी पढ़ें: कुशीनगर हवाई अड्डे को विकसित करने का कार्य जल्द पूरा करे सरकार: मायावती

उन्होंने सभी जनपदों में कम से कम एक पृथक-वास केंद्र तथा एक सामुदायिक रसोई सक्रिय रखे जाने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने खरीफ फसल के लिए किसानों को सभी कृषि निवेश की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश दिए। योगी ने कहा कि इस बात पर विशेष ध्यान रखा जाए कि किसानों को खाद, बीज तथा फसल सुरक्षा रसायनों के संबंध में कोई असुविधा न हो। नहरों का संचालन रोस्टर के अनुरूप कराया जाए। सभी सरकारी नलकूपों को क्रियाशील रखा जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि गौ-आश्रय स्थलों में संरक्षित गौवंश के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी गौवंश के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें। खुरपका-मुंहपका के टीकाकरण के लिए पशुपालकों को जागरूक किया जाए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।