Prabhasakshi
सोमवार, अप्रैल 23 2018 | समय 19:11 Hrs(IST)

प्रभु महिमा/धर्मस्थल

रंगोली व तोरण से घर में आती हैं खुशियां और समृद्धि

By रीना बसंल | Publish Date: Oct 27 2016 3:05PM

रंगोली व तोरण से घर में आती हैं खुशियां और समृद्धि
Image Source: Google

त्योहारों के शुभ अवसर पर रंगोली बनाने की प्रथा हमारे यहां शुरूआत से ही चली आ रही है। इसमें कई तरह के आकार और रंगों के जरिए रंगोली के खूबसूरत डिजाइन बनाए जाते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि यदि रंगोली घर की सही दिशा में बनाई जाए तो जीवन में खुशियां, समृद्धि और उपलब्धियां लेकर आती है। इसी तरह घर के प्रवेश द्वार घर तोरण लगाने की परम्परा भी चली आ रही है। इस बारे में भी बहुत कम लोगों को पता होगा कि यही आकार और रंगों का तोरण हमारे जीवन में खुशियों और समृद्धि का स्वागत करने में मददगार है। यह परिवार के सभी सदस्यों पर देवी देवताओं का आशीर्वाद बरसाने में सहायक है।

रंगोली टिप्स
 
- उत्तर दिशा में लहरिया आकार की रंगोली बनाकर स्पष्टता और उन्नति के नए अवसरों को अपने जीवन में आमंत्रित करें।
 
- पूर्व दिशा में अंडाकार डिजाइन जीवन में विकास के नए आयाम लाता है।
 
- दक्षिण पूर्व में खूबसूरत त्रिकोण आकार हमारे जीवन में सुरक्षा और आत्मविश्वास का नया संचार करता है।
 
- उत्तर मुखी घर में मुख्य द्वार पर रंगोली बनाते समय लाल, ऑरेंज और बैंगनी रंगों से परहेज कीजिए। साथ ही त्रिकोण आकार की रंगोली बनाने से परहेज कीजिए। क्योंकि यह आपके घर में रुपये के आवागमन और जीवन में नई उपलब्धियों को आने से रोकता है।
 
- पश्चिमी मुखी घर में सुनहरे और सफेद रंग के प्रयोग के साथ ही गोलाकार रंगोली बनानी चाहिए।
 
- इस रंगोली के माध्यम से जीवन में लाभ एवं प्राप्तियों को आकर्षित कर सकते हैं।
 
तोरण टिप्स-
 
- मुख्यद्वार उत्तर में है तो नीले रंग के फूलों का तोरण लटकाना चाहिए। यदि घर का प्रवेश द्वार दक्षिण में है तो लाल, पश्चिम में हैं तो पीला और पूर्व में मुख्य द्वार है तो हरे रंग के फूलों का तोरण सजाना समृद्धि को आमंत्रित करता है।
 
- केवल उत्तर, पूर्व और दक्षिण दिशा में बने प्रवेश द्वार पर लकड़ी का तोरण लगाया जा सकता है।
 
- धातु के तोरण को हम पश्चिम और उत्तर दिशा के द्वार पर लगा सकते हैं।
 
- त्रिकोण आकार की आकृतियों से सजे तोरण को दक्षिण दिशा के प्रवेश द्वार पर लगाया जा सकता है।
 
रीना बसंल
वास्तु विशेषज्ञ, न्यूमरोलॉजिट।
reenag01@yahoo.com
9871421775, 98711657092

Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.