Prabhasakshi
रविवार, जून 24 2018 | समय 18:04 Hrs(IST)

ब्यूटी/फैशन

सेब का सिरका है बहुत कमाल का, इसके गुण गिनते ही रह जाएँगे

By अनीता गौड | Publish Date: Nov 18 2017 3:02PM

सेब का सिरका है बहुत कमाल का, इसके गुण गिनते ही रह जाएँगे
Image Source: Google

संसार में लगभग 7500 किस्मों के सेब पाए जाते हैं, इसलिए दुनिया में सबसे ज़्यादा खाये जाने वाले फलों में से एक सेब है। ये वही वर्जित सेब है जिसे देवताओं के मना करने के बावजूद मानव जाति के पिता और माता आदम और हव्वा ने खाया था और उन्हें ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। पुरातन काल का आदम और हव्वा वाला सेब हो, या आइजेक न्यूटन के सिर पर गिरने वाला सेब या स्टीव जॉब्स की कंपनी एप्पल का कटा हुआ सेब सभी कमाल के साबित हुए। इन्हीं कमाल के सेबों से बनाया जाने वाला भूरे रंग का सिरका सेब का खमीर उठने से बनता है इसमें बेहद ज़रूरी विटामिन और पोषक तत्व होते हैं। सेब के सिरके में एंटी ट्यूमर पोटेंशियल होता है और यह ट्यूमर पैदा करने वाले कारकों से लड़ने में सक्षम है। इस सिरके में एंटी वायरल, एंटी बैक्टीरियल तथा एंटी फंगल गुण होते हैं। यह सौन्दर्य संबंधी कई समस्याओं, जैसे एलर्जी, एक्ने, वज़न का घटना, डैंड्रफ, पैरों की समस्या को दूर करने में काफी कारगर सिद्ध होता है। सेहत और सौन्दर्य को संतुलित करने में सेब का सिरका कैसे प्रयोग में लाया जाता है आइए जानते हैं एलीगेंजा रीजुवेनेशन क्लिनिक और एम्पायर ऑफ मेकओवर्स की फाउंडर आश्मीन मुंजाल से-

 
माउथवाश के रूप में 
आश्मीन जी के अनुसार सेब के सिरके का प्रयोग आप माउथवाश के रूप में भी कर सकते हैं। यह आपके मुंह की सांसों में बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया का खात्मा करता है। यह मुंह के प्लाक का इलाज भी कारगर तरीके से करता है। लेकिन माउथवाश के रूप में सेब के सिरके के प्रयोग के तुरंत बाद पानी से अच्छी तरह कुल्ला करने की सावधानी अवश्य बरतें उसके बाद चीज़ों का सेवन करें।
 
चेहरे के चकत्तों को ठीक करने में 
चकत्तों को ठीक करने के लिए सेब के सिरके की मदद लें, जो कि अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड से भरपूर होता है। अल्फ़ा हाइड्रोक्सी एसिड का प्रयोग मुख्य तौर पर त्वचा को गोरा बनाने वाले उत्पादों में किया जाता है और उम्र के निशानों और चकत्तों को ठीक करने में ये काफी कारगर साबित होता है। इसके लिए बिना मिलावट वाले सेब के सिरका को एक इयर बड की सहायता से प्रभावित भाग पर सीधे लगाएं। कम से कम 4 महीनों तक इस विधि का प्रयोग हर रोज़ करें और आपको शत प्रतिशत परिणाम मिलेंगे।
 
बालों के लिए 
3 कप सेब के सिरके में 3 कप पानी और उसमें 3 से 4 बूँद रोजमेरी की बूंदें मिला कर उसे बोतल में रखें और जब भी सिर धोना हो तब उसे थोड़ी देर पहले जड़ों में अच्छी तरह लगा लें। उसके कुछ देर बाद कंडीशनर से धो लें। इससे बालों के झड़ने की समस्या ख़त्म हो जाएगी और बाल मज़बूत, लम्बे तथा चमकदार बनेंगे।
 
नाखूनों के लिए 
नाखूनों की चमक को बनाये रखने के लिए मैनीक्योर करने से पहले सेब के सिरके को नखों पर लगा कर सूखने दें। इस प्रक्रिया से नाखूनों की पॉलिश नाखूनों पर लम्बे समय तक रहती है।
 
टोनर के रूप में 
सेब का सिरका हमारी स्किन के पीएच लेवल को कंट्रोल करता है। दरअसल सेब के सिरके का पीएच लेवल और हमारी स्किन के प्रोटेक्टिव एसिड परत का पीएच लेवल मिलता जुलता है जिस वजह से यह पीएच लेवल का बैलेंस लाने में काफी सहायक माना जाता है। इसके टोनर को बनाने के लिए आधे कप सेब के सिरके के साथ एस्पिरिन की दो टेबलेट्स पीस लें और इसे सेब के सिरके और पानी के साथ मिश्रित करके टोनर बनाएं। टोनर के रूप में इसे लगाने से त्वचा नर्म और मुलायम होती है।
 
तैलीय त्वचा के लिए  
तैलीय त्वचा को ठीक करने के लिए 50% सेब के सिरके और 50% ठन्डे मिनरल वाटर का प्रयोग करें। इस मिश्रण को एस्ट्रिंजेंट की तरह प्रयोग में लाएं। आप इसे फ्रीजर में रखकर इसका गर्मियों के मौसम में सुबह सौंदर्य उपचार की पद्धति के रूप में बाद में भी प्रयोग कर सकते हैं।
 
त्वचा की अंदरूनी देखभाल के लिए 
स्किन पोर्स का अंदर से उपचार करने के लिए सेब के सिरके तथा मुल्तानी मिट्टी का एक फेस पैक बनाएं। इन दोनों पदार्थों को आपस में मिलाएं तथा इसे अपने चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए चेहरे पर ही छोड़ दें तथा इसके बाद गर्म पानी से अच्छे से धो लें। यह त्वचा को काफी अच्छी तरह से डिटॉक्सिफाई करता है और इसे तरोताज़ा बनाए रखता है।
 
आफ़्टरशेव के रूप में  
सेब का सिरका मर्दों के लिए एक बढ़िया आफ़्टरशेव है जिससे कि आपकी त्वचा की टोन में निखार आएगा और आपकी त्वचा सुन्दर और नरम मुलायम होगी। इस आफ़्टरशेव को एक छोटी बोतल में रखें और शेविंग के बाद प्रयोग में लाएं।

क्रेडिट रोल- एलीगेंजा रीजुवेनेशन क्लिनिक और एम्पायर ऑफ मेकओवर्स की आश्मीन मुंजाल
 
- अनीता गौड

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

शेयर करें: