Prabhasakshi
सोमवार, अप्रैल 23 2018 | समय 13:09 Hrs(IST)

कॅरियर

नेट परीक्षा अब फिर से साल में दो बार ली जाएगी

By प्रज्ञा पाण्डेय | Publish Date: Mar 28 2018 2:26PM

नेट परीक्षा अब फिर से साल में दो बार ली जाएगी
Image Source: Google

अगर आप प्रोफेसर बनने की चाहत रखते हैं तो आपका सपना पूरा होने का समय आ गया है। जी हां आप ठीक समझे हम बात कर रहे हैं यूजीसी नेट परीक्षा की। तो आइए इस एक्जाम के बारे में कुछ जरूरी जानकारी देते हैं। 

नेट परीक्षा नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट का संक्षिप्त रूप है। पहले यह परीक्षा यूजीसी द्वारा आयोजित की जाती है लेकिन पिछले कुछ वर्षों में इसमें बदलाव किया गया है। अब इस परीक्षा को सीबीएसई आयोजित करती है। सीबीएसई में पिछले वर्ष यह निर्णय लिया था कि यह परीक्षा साल में एक बार होगी। लेकिन इस बार पुनः नेट परीक्षा साल में दो बार ली जाएगी। यह परीक्षा 84 विषयों में ली जाती है और इसके लिए देश भर में 91 सेंटर बनाए जाएंगे। 
 
योग्यता 
नेट का एक्जाम देने के लिए पहली योग्यता है आप पोस्ट ग्रेजुएट हों। साथ ही आप 55 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण हों। यह अर्हता सामान्य वर्ग के कैंडिडेट्स के लिए है। ओबीसी, एससी-एसटी और पीडब्लूडी के लिए 50 फीसदी अंक अनिवार्य हैं। साथ ही ऐसे लोग जिनकी पीएचडी 19 सितम्बर 1991 से पहले हो चुकी है उन्हें 5 फीसदी की छूट भी मिलेगी।
 
महत्वपूर्ण तारीख 
नेट परीक्षा के लिए 6 मार्च 2018 से 5 अप्रैल 2018 तक होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन। आप 6 अप्रैल कर ऑनलाइन फीस भी जमा कर सकते हैं। 25 अप्रैल 2018 से 1 मई 2018 तक आप फार्म में ऑनलाइन करेक्शन भी कर सकते हैं। इसके बाद 8 जुलाई 2018 को दो पाली में नेट की परीक्षा आयोजित की जाएगी।
 
इस बार है खास 
इस बार की परीक्षा खास है क्योंकि इसमें बहुत से संशोधन किए गए हैं। पहले नेट परीक्षा में तीन पेपर होते थे। लेकिन अब तीन की जगह दो ही पेपर होंगे। पहले प्रथम और द्वितीय प्रश्न पत्र में 50-50 प्रश्न होते थे और तीसरे प्रश्न पत्र में 75 सवाल पूछे जाते थे। लेकिन अब पहले प्रश्न पत्र में 100 अंकों के 50 सवाल पूछे जाएंगे। दूसरे प्रश्न पत्र में 200 नम्बरों के 100 सवाल होंगे। पहला प्रश्न पत्र 9.30 से 10.30 के बीच होगा। दूसरा प्रश्न पत्र 11 से 1 के बीच होगा। 
 
आयु सीमा 
नेट परीक्षा की खास बात यह कि इसमें भाग लेने वाले कैंडिडेट्स के लिए कोई आयु सीमा नहीं है। जेआरएफ के लिए पहले आयु सीमा 28 वर्ष थी जिसे बढ़ाकर उसे 30 वर्ष कर दिया गया है। ओबीसी, एससी, एसटी, दिव्यांग और महिलाओं के लिए इस आयु सीमा में पांच वर्ष की छूट दी गयी है। 
 
फीस 
नेट परीक्षा में सामान्य वर्ग के फीस 1000 रूपए है। वहीं ओबीसी के लिए 500 रूपए और एससी-एसटी, पीडव्ल्यू डी और ट्रांसजेंडर के लिए 250 रूपए है।
 
-प्रज्ञा पाण्डेय

Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.