Prabhasakshi
बुधवार, मई 23 2018 | समय 03:21 Hrs(IST)

विशेषज्ञ राय

यह रहे क्रेडिट कार्ड पर रिवार्ड कमाने के 6 बेहतर तरीके

By रुपांशी थापा | Publish Date: Feb 9 2018 10:44AM

यह रहे क्रेडिट कार्ड पर रिवार्ड कमाने के 6 बेहतर तरीके
Image Source: Google
क्या आपने नोटिस किया है कि बैंक अपने क्रेडिट कार्ड की मार्केटिंग रिवार्ड और ब्रांडेड बेनिफिट के लिए ही सिर्फ करते हैं। अधिकांशतः जब ईएमआई, ब्याज दर और बैलेंस ट्रांसफर की सुविधा ऑफर की जाती है तो सभी क्रेडिट कार्ड में एक समान फीचर्स ही दिए जाते हैं। क्रेडिट कार्ड कंपनियों में अंतर सिर्फ इसी आधार पर होता है कि किस कंपनी का रिवार्ड स्कीम कैसा है। कुछ क्रेडिट कार्ड कंपनी जैसे RBL Bank Credit Card अपने कस्टमर को शॉपिंग पर एक्सट्रा रिवार्ड की भी सुविधा देते हैं। कई क्रेडिट कार्ड कंपनियां अपने कस्टमर को एयर माइल्स का ऑफर देती हैं ताकि उनके सैर-सपाटे का खर्च कम हो जाए या सस्ता हो जाए।
 
जैसा कि आपको भी पता है कि मार्केट में बहुत सारे विकल्प मौजूद होने के कारण आपको यह फैसला लेने में मुश्किल हो जाता है कि कौन सा क्रेडिट कार्ड आपको बेस्ट रिवार्ड देगा। हालांकि सही क्रेडिट कार्ड ले लेने के बाद भी कई कस्टमर अपने रिवार्ड प्वाइंट का सही और बेहतर इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। 
 
Bajaj Finserv Credit card या दूसरे बैंकों के क्रेडिट कार्ड के बेहतर इस्तेमाल करने के तरीकों पर बात करने से पहले यह जानना जरूरी है कि रिवार्ड प्वाइंट क्या होता है और यह कैसे काम करता है। सभी क्रेडिट कार्ड कंपनी कार्ड पर हर 100 रुपये के खरीदारी पर एक निश्चित संख्या में रिवार्ड प्वाइंट ग्राहकों को देती हैं। रिवार्ड प्वाइंट का बेंचमार्क सभी बैंकों के लिए अलग-अलग हो सकता है लेकिन रिवार्ड प्वाइंट जमा करने का तरीका सभी कार्डों का एक समान ही होता है। जब जमा हुए रिवार्ड प्वाइंट एक खास लिमिट तक पहुंच जाता है तो आप रिवार्ड प्वाइंट को गिफ्ट वाउचर लेने में, आइटम्स की खरीदारी में या शॉपिंग में भी खर्च कर सकते हैं। रिवाप्ड प्वाइंट भी एक तरह से कैश की तरह ही काम करता है। कुछ क्रेडिट कार्ड कंपनियां रिवार्ड प्वाइंट के बदले में एयर माइल्स देती हैं जिससे आप फ्लाइट की टिकट या होटल के रुम ही सिर्फ बुक कर सकते हैं। कई क्रेडिट कार्ड कंपनियां रिवार्ड प्वाइंट की जगह पर शॉपिंग में एक्स्ट्रा खर्च करने की सुविधा, खास डिपार्टमेंटल स्टोर पर खरीदारी की सुविधा, रेस्टोरेंट-होटल में खाने की सुविधा या किसी खास ब्रांड के सामानों की खरीदारी की सुविधाएं ग्राहकों को देती हैं। 
 
हालांकि अगर आपने बेस्ट रिवार्ड प्वाइंट वाले क्रेडिट कार्ड का चयन भी कर लिया है तो कुछ परिस्थितियों में इस रिवार्ड प्वाइंट का सीधा लाभ आपको नहीं मिल सकता है। कुछ परिस्थितियों में आप रिवार्ड प्वाइंट्स के सीधे लाभ पाने के हकदार नहीं होते हैं। ये परिस्थितियां हैं- 
 
•    अगर आपके क्रेडिट कार्ड का रिवार्ड प्वाइंट एक्सपायर्ड हो गया हो
•    अगर बैंक ने रिवार्ड प्वाइंट्स के नियम और शर्तों में बदलाव कर दिया हो
•    अगर आप रिवार्ड प्वाइंट के निश्चित लिमिट तक नहीं पहुंचे हैं तो आपके खर्च की सीमा न्यूनतम हो जाती है
•    बैंक के द्वारा अधिकृत स्टोर के अलावा दूसरे डिपार्टमेंटल स्टोर पर आप शॉपिंग नहीं कर सकते हैं
 
अगर आपने रिवार्ड प्वाइंट पाने वाला क्रेडिट कार्ड ले लिया है तो इसके इस्तेमाल से पहले कुछ बातों पर सोच-विचार कर लें। नीचे कुछ सुझाव आपके सुविधा के लिए दिये जा रहे हैं जिसे पढ़ कर हीं आप रिवार्ड प्वाइंट्स प्रोग्राम का इस्तेमाल करें। 
 
1 रिवार्ड को अपने मनपसंद चीजों में खर्च करें
 
बैंक हमेशा आपके क्रेडिट कार्ड पर खूब सारा रिवार्ड प्वाइंट्स का बेनिफिट देगा लेकिन आप हमेशा उसे ही चूज करें जिसे आप अपने मनपसंद चीजों के ऊपर खर्च करने में इस्तेमाल कर सकें। उदाहरण के लिए, अगर आप बराबर सैर-सपाटे पर बाहर जाते हैं तो किसी खास एयलाइंस पर क्रेडिट कार्ड द्वारा दिया गया ऑफर ही आपके लिए अच्छा हो सकता है। उसी तरह अगर आप बहुत ज्यादा शॉपिंग करते हैं तो किसी खास स्टोर या डिपार्टमेंटल स्टोर पर ब्रांडेड सामान खरीदने पर कार्ड कंपनी ऑफर दे रही है तो यह आपके लिए अच्छा होगा। अगर आप यह फैसला नहीं ले पा रहे हैं कि किस तरह के रिवार्ड प्वाइंट्स के साथ जाना चाहिए तो ऐसी स्थिति में वैसे क्रेडिट कार्ड को सेलेक्ट करें जिसमें ज्यादा से ज्यादा कैशबैक मिलता हो जिसका इस्तेमाल आप राशन और कपड़ों की खरीदारी में कर सकें। सिंपल सा आईडिया यह है कि अगर आप श्योर नहीं हैं तो सिर्फ बैंकों के कहने पर ही क्रेडिट कार्ड नहीं लें, मार्केट में रिसर्च कर लें। 
 
2 सिर्फ रिवार्ड प्वाइंट कमाने के लिए खर्च नहीं करें
 
आखिर क्या वजह है कि बैंक मार्केट में अपने रिवार्ड प्रोग्राम का खूब प्रचार करते हैं। बैंक हमेशा चाहती है कि कस्टमर कार्ड से ज्यादा से ज्यादा खरीदारी करे। बैंक इसके लिए कस्टमर को प्रोत्साहित भी करती है। लेकिन आपको बैंकों के ऑफर से परहेज करना चाहिए। आप कभी भी उन सामानों की खरीदारी नहीं करें जिसकी आपको जरूरत ही नहीं है। ज्यादा रिवार्ड प्वाइंट कमाने के चक्कर में कभी भी बेकार सामानों की खरीदारी नहीं करें। हमेशा यह याद रखें कि आप क्रेडिट कार्ड से जो भी खरीदारी करते हैं, महीने के अंत में आपको इसका भुगतान करना पड़ता है और अगर आप भुगतान करने में फेल हो जाते हैं तो आप पर यह कर्ज हो जाता है। आप पर कर्जों का बोझ लद सकता है। अगर आप पहले से कर्ज में हैं तो आपके लिए ऐसी स्थिति में ज्यादा खरीदारी वित्तीय संकट ला सकती है। इसलिए ऐसी स्थिति में बैंकों के ऑफर वाले मेल्स और मैसेजेज पर ध्यान नहीं दें। 
 
3 हमेशा दूसरे बैंक के क्रेडिट कार्ड पर मिल रहे प्वाइंट्स से अपने रिवार्ड की तुलना करें
 
कभी भी इमोशन के बहकावे में आकर फैसला नहीं करें। हमेशा अपने कार्ड पर मिल रहे रिवार्ड बेनिफिट की तुलना किसी दूसरे कार्ड पर मिल रहे बेनिफिट से कर लें। क्या आपके कार्ड पर किसी ब्रांड की खरीदारी पर मिल रहे बेनिफेट दूसरे कार्ड पर मिल रहे बेनिफिट से कहीं अलग तो नहीं है न! कुछ कार्डों पर आकर्षक रिवार्ड बेनिफिट का ऑफर तो रहता है लेकिन साथ ही में उस पर ग्राहकों को सालाना शुल्क भी चुकाना पड़ता है। जाहिर है ऐसी स्थिति में रिवार्ड प्वाइंट्स का मॉनिटरी वैल्यू जीरो हो जाता है। नतीजा होता है कि आप अपने कार्ड का इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। क्योंकि कार्ड पर लगने वाले सालाना शुल्क आपके सालाना खर्च का ही हिस्सा होता है। 
 
4 अपने खर्च का बजट बनाएं
 
अलग-अलग कार्डों से छोटी-छोटी खरीदारी करना भी समझदारी नहीं है। इस उपाय से भी आप ज्यादा प्वाइंट्स नहीं कमा सकते हैं। बेहतर है आप अपने खर्चों का एक बजट बनाएं और खर्चों की श्रेणी बना कर उसकी प्राथमिकता तय करें। अगर आप यह कर लेते हैं तो आप अपने क्रेडिट कार्ड पर ज्यादा से ज्यादा प्वाइंट्स की कमाई कर सकते हैं। जोड़े गए रिवार्ड प्वाइंट की ट्रैकिंग करें और सही समय आने पर उसे खर्च करें। 
 
5 फाइन प्रिंट की स्टडी करें
 
क्रेडिट कार्ड के रिवार्ड प्रोग्राम के साथ कई तरह के नियम और शर्त भी जुड़े होते हैं। ग्राहक के तौर पर, यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि आप फाइन प्रिंट की स्टडी कर लें ताकि आप ज्यादा रिवार्ड प्वाइंट्स कमा सकें। कुछ बैंक आपको रिवार्ड प्वाइंट्स तभी ही देते हैं जब कार्ड से खर्च करने की लिमिट को आप क्रॉस कर लेते हैं। बैंक को यह अधिकार भी होता है कि वो रिवार्ड प्वाइंट्स के नियम व शर्तों में अचानक से बदलाव ला सके। कस्टमर पर नए चार्ज थोप सके। हालांकि कभी-कभी बैंक कस्टमर को नए चार्ज और नियम और शर्तों के बारे में ईमेल भी करती है। इसलिए कार्ड लेते वक्त फाइन प्रिंट का स्टडी कर ही लेना चाहिए।
 
6 ऑफर और स्कीम से अपडेट रहें 
 
कभी भी बाजार में अंधे बनकर शॉपिंग करने नहीं जाएं। इससे आपके क्रेडिट कार्ड पर कर्ज का बोझ लद सकता है। शॉपिंग करने के लिए जाने से पहले जान लें कि बाजार में क्या ट्रेंड कर रहा है। साथ ही यह भी जान लें कि किसी खास आइटम की खरीदारी करने से क्या पैसों की बचत हो रही है। त्योहारी सीजन पर नजर रखें, क्योंकि फेस्टिव सीजन में कई ई-कॉमर्स कंपनियां, कई ब्रांड और प्रोडक्ट्स पर कई तरहों का ऑफर कस्टमर को देते रहती हैं। कई क्रेडिट कार्ड कंपनियां ई-कॉमर्स कंपनियों के साथ ऐसे ऑफर वाले सेल्स में पार्टनर भी होते हैं। ऐसे सेल्स में कई तरह के ऑफर्स और छूट मिलते हैं। 
 
इसके अलावा, आपको यह भी चेक करते रहना चाहिए कि आपके कार्ड पर मिले रिवार्ड प्वाइंट्स कहीं एक्स्पायर तो नहीं हो रहा है। सिर्फ क्रेडिट कार्ड से खरीदारी कर रिवार्ड प्वाइंट कमाना ही काफी नहीं होता है। समय पर ईएमआई का भुगतान करना भी उतना ही जरूरी होता है। पेमेंट में देरी करने से पेनाल्टी भी लगती है और इससे आपका क्रेडिट स्कोर कम होने का खतरा रहता है। आपको यह समझना होगा कि रिवार्ड प्रोग्राम से सिर्फ कस्टमर ही नहीं बैंक को भी प्रॉफिट होता है। क्रेडिट कार्ड यूजर्स तभी ही रिवार्ड प्रोग्राम का बेहतर इस्तेमाल कर सकते हैं जब वो अपने खर्चों की प्राथमिकता तय करें, खर्चों का बजट बनाएं। क्रेडिट कार्ड और रिवार्ड प्रोग्राम के नियम और शर्तों से अच्छे तरीके से वाकिफ हो जाएं।
 
- रुपांशी थापा
 

Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.