Prabhasakshi
बुधवार, मई 23 2018 | समय 03:18 Hrs(IST)

राष्ट्रीय

32 घंटे के ऑपरेशन के बाद दो आतंकी ढेर, श्रीनगर में मुठभेड़ खत्म

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 13 2018 2:31PM

32 घंटे के ऑपरेशन के बाद दो आतंकी ढेर, श्रीनगर में मुठभेड़ खत्म
Image Source: Google

सीआरपीएफ के एक शिविर पर हमला करने की आतंकवादियों की कोशिश नाकाम होने के बाद सुरक्षा बलों और लश्कर के दो आतंकियों के बीच पिछले 32 घंटे से चल रही मुठभेड़ दोनो आतंकियों के ढेर होने के बाद समाप्त हो गई। पुलिस ने यह जानकारी दी। शहर के बीचोंबीच स्थित करन नगर में एक निर्माणाधीन इमारम में छिपे आतंकियों को निकालने के लिए जम्मू कश्मीर के विशेष अभियान समूह और केन्द्रीय आरक्षी पुलिस बल ने मोर्चा संभाला। एक पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने स्पष्ट किया कि सेना ने इस अभियान में हिस्सा नहीं लिया।

कश्मीर के पुलिस महा निरीक्षक एस पी पाणि ने बताया कि जिन आतंकवादियों ने कल बड़े सवेरे करन नगर इलाके में सीआरपीएफ के शिविर पर हमला करने का प्रयास किया था, वह लश्कर ए तैयबा आतंकी गिरोह से जुड़े थे। उन्होंने सीआरपीएफ अधिकारियों के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मुठभेड़ की जगह से हमें जो सामान मिला है, उसे देखकर लगता है कि आतंकी लश्कर से जुड़े थे, लेकिन आतंकवादियों की पहचान अभी नहीं हो पाई है और हम शिनाख्त करने की कोशिश कर रहे हैं।पाणि ने कहा कि यह आतंकियों के सफाए का अभियान था और यह इतना लंबा इसलिए चला क्योंकि जिस इमारत में आतंकी छिपे हुए थे वह एक पांच मंजिला ढांचा था।

सतर्क सुरक्षा बलों ने हमलावर आतंकवादियों को देखते ही उनपर तत्काल गोलियां चला दीं और सीआरपीएफ शिविर पर हमला करने की उनकी कोशिश को नाकाम कर दिया, जिसके बाद वह करन नगर इलाके की इस निर्माणाधीन इमारत में घुस गए। आतंकवादियों के साथ कल हुई शुरूआती गोलीबारी में सीआरपीएफ के एक जवान की मौत हो गई और एक पुलिसकर्मी घायल हुआ। रातभर की खामोशी के बाद आज सवेरे यह अभियान फिर से शुरू हुआ। सीआरपीएफ के महानिरीक्षक के अनुसार सुरक्षा बलों ने इलाके की व्यापक पड़ताल की और अभियान शुरू करने से पहले रणनीति बनाई। उन्होंने कहा, ‘‘हमने सीआरपीएफ कर्मियों के पांच परिवारों और कुछ नागरिकों को बचाया और इमारत से सबको बाहर निकाल लेने के बाद आतंकवादियों के खिलाफ निर्णायक अभियान शुरू किया गया।’’

उन्होंने उस सजग संतरी की सराहना की जिसने आतंकवादियों के इस फिदायीन हमले को नाकाम किया। यह पूछे जाने पर कि क्या इमारत में और आतंकी छिपे हो सकते हैं उन्होंने कहा कि संतरी ने सिर्फ दो ही आतंकवादियों का देखा था। ‘‘संतरी ने शानदार काम किया है और घटना का शोर शराबा थम जाने पर हम उसे जरूर सम्मानित करेंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या शहर में और आतंकियों के होने खबर है या और हमले होने की आशंका है, सीआरपीएफ अधिकारी ने कहा कि सुरक्षा कर्मी सतर्क हैं।