Prabhasakshi
सोमवार, जून 25 2018 | समय 07:27 Hrs(IST)

राष्ट्रीय

सुकमा में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट किया, CRPF के 9 जवान शहीद

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 13 2018 7:41PM

सुकमा में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट किया, CRPF के 9 जवान शहीद
Image Source: Google

रायपुर/ नयी दिल्ली। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर माइन प्रोटेक्टेड व्हीकल( एमपीवी) को उड़ा दिया जिससे केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल( सीआरपीएफ) के नौ जवान शहीद हो गये। करीब एक साल पहलेभी सुकमा में ही नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया था कि जिसमें 12 जवानों की मौत हो गई थी। अधिकारियों ने बताया कि यह घटना  दिन में करीब 12:30 बजे किस्टाराम- पलोडी रोड के किनारे हुई। यह सड़क अभी निर्माणाधीन है। हमले में सीआरपीएफ की 212 वीं बटालियन को निशाना बनाया गया जो अभियान के लिए निकली थी। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हमले में सीआरपीएफ के नौ कर्मियों के मारे जाने की निंदा की और इस घटना को बहुत ही दुखद बताया। उन्होंने कहा, ‘‘ सुकमा विस्फोट में अपनी जान गंवाने वाले कर्मियों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना। मैं घायल जवानों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।

 
गृह मंत्री ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह से बात की। रमन सिंह ने उनको इस घटना, घायल जवानों के उपचार के लिए उठाए गए कदमों और संलिप्त लोगों को पकड़ने के लिए चलाए जा रहे अभियान के बारे में जानकारी दी। अधिकारियों के मुताबिक विस्फोट में जवानों का वाहन करीब 10 फुट हवा में उछला और टुकड़े- टुकड़े हो गया। सीआरपीएफ के महानिदेशक राजीव भटनागर बताया, ‘‘हमले की चपेट में आए जवान एंटी माइन व्हीकल में सफर कर रहे थे और पलोडी में खुली नयी चौकी की तरफ जा रहे थे। इलाके में नक्सली सुबह करीब आठ बजे देखे गए और कोबरा टीमों ने प्रभावी जवाबी कार्रवाई की और उनके घेरे को तोड़ दिया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ बहरहाल, जब दोपहर में मोटरसाइिकलों और दो एमपीवी का काफिला गुजर रहा था तो दूसरा एमपीवी विस्फोट की चपेट में आ गया।’’ 
 
भटनागर आधिकारिक दौरे के बाद आज सुबह राज्य से लौटे हैं। अधिकारियों का कहना है कि हमले के पीछे नक्सल कमांडर हिदमा और उसके समूह पीएलजीए( पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी)बटालियन नम्बर 1 के सदस्य हो सकते हैं। इससे पहले, सीआरपीएफ के अधिकारियों ने रायपुर में बताया कि किस्टाराम थाना क्षेत्र के पलोड़ी शिविर में सुकमा के पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा का दौरा था। इसे देखते हुए किस्टाराम से पलोड़ी के लिए दो एंटी लैंडमाइन व्हीकल में सीआरपीएफ के212 वीं बटालियन के जवानों को रवाना किया गया था। उन्होंने बताया कि वाहन जब किस्टाराम और पलोड़ी गांव के मध्य जंगल में था, तब नक्सलियों ने शक्तिशाली विस्फोट में वाहन को उड़ा दिया। इससे वाहन में सवार नौ जवान शहीद हो गये तथा दो अन्य घायल हो गये। विस्फोट के बाद नक्सलियों ने गोलीबारी भी की थी। उन्होंने कहा कि घटना की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बल को रवाना किया गया तथा शवों और घायल जवानों को जंगल से बाहर निकाला गया। घायलों को अस्पताल भेजा गया है।


सुरक्षा बल के अधिकारियों ने बताया कि आज सुबह इसी मार्ग पर नक्सलियों ने गश्त में रवाना हुए कोबरा बटालियन के जवानों पर हमला किया था। हमले के बाद जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की थी। कुछ देर तक गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से फरार हो गए थे। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में नक्सली गर्मी के दौरान मार्च से जून महीने में‘ टेक्टिकल काउंटर आफेंसिव कैंपेन’ : टीसीओसी: चलाते हैं। इस दौरान नक्सली अपनी गतिविधि को बढ़ा देते हैं तथा बड़े हमले की तैयारी करते हैं। टीसीओसी के दौरान ही नक्सलियों ने पिछले वर्ष24 अप्रैल को सुकमा जिले के बुरकापाल में एक बड़े हमले में सीआरपीएफ के25 जवानों की हत्या कर दी थी। इससे पहले सुकमा के ही भेज्जी क्षेत्र में11 मार्च को नक्सलियों ने सीआरपीएफ के दल पर हमला किया था। इस घटना में12 जवान शहीद हुए थे।

 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


शेयर करें: