Prabhasakshi
सोमवार, नवम्बर 19 2018 | समय 09:14 Hrs(IST)

विश्लेषण

गुजरात की घटना उत्तर भारत में भाजपा को बड़ा नुकसान पहुँचा सकती है

By मनोज झा | Publish Date: Oct 10 2018 3:07PM

गुजरात की घटना उत्तर भारत में भाजपा को बड़ा नुकसान पहुँचा सकती है
Image Source: Google
पिछले कुछ दिनों से गुजरात में जो हो रहा है उसने हम सभी की चिंता बढ़ा दी है। गुजरात के साबरकांठा में मासूम बच्ची से रेप की वारदात पर इस कदर सियासत हुई कि देखते ही देखते बिहार और यूपी के मजदूरों को निशाना बनाया जाने लगा। हालात इस कदर बिगड़े कि दो जून की रोटी कमाने गए करीब 50 हजार मजदूरों को पलायन के लिए मजबूर होना पड़ा। जिस गुजरात में वो बरसों से मजदूरी कर रहे थे...अचानक उन्हें अपनी जान बचाकर भागना पड़ रहा है।
 
28 सितंबर को साबरकांठा में 14 महीने की बच्ची से रेप हुआ..इस घिनौनी वारदात में एक बिहारी मजदूर का नाम आया...इस घटना की सभी ने निंदा की और आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की गई। लेकिन इसी बीच मामले पर सियासत शुरु हो गई...रही सही कसर कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर के भड़काऊ भाषण ने पूरी कर दी। गुजरात के अलग-अलग जिलों में बिहार और यूपी के लोगों को निशाना बनाया गया...हालात इस कदर बिगड़े कि अपनी जान बचाने के लिए हजारों मजदूर रातों रात वहां से पलायन करने पर मजबूर हो गए।
 
बिहार और यूपी के मजदूरों के पलायन से गुजरात में हजारों फैक्ट्रियों में ताला लग गया है। गुजरात के 6 जिलों में हालात बिगड़ने के बाद पुलिस ने 400 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार तो किया है लेकिन वहां रह रहे उत्तर भारतीय अब भी खौफ के साए में जी रहे हैं। बिहार और यूपी से हर साल हजारों की संख्या में मजदूर रोजी-रोटी कमाने गुजरात जाते हैं...सूरत में हीरों का कारोबार इन्हीं मजदूरों से फल-फूल रहा था। लेकिन आज हालात ऐसे हो गए कि उन्हें वहां से भागना पड़ रहा है।
 
किसी एक शख्स की घिनौनी करतूत के चलते हजारों लोगों को निशाना बनाया जाए ये कहां तक उचित है। दरअसल गुजरात में हुई पूरी घटना के पीछे पूरी तरह सियासत हावी है। अगर गुजरात सरकार मामले को लेकर गंभीर होती तो इस तरह के हालात कभी पैदा नहीं होते। वैसे नफरत फैलाने वाले वीडियो वायरल होने के बाद अल्पेश ठाकोर का कहना है कि उन्होंने किसी को नहीं भड़काया। आपको बता दें कि अल्पेश ठाकोर को कांग्रेस ने बिहार का प्रभारी भी नियुक्त किया है...और यही कारण है कि बीजेपी अब अल्पेश के बहाने कांग्रेस को कठघरे में खड़ा कर रही है।
 
इस बीच कभी अल्पेश के साथी रहे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भी उत्तर भारतीयों पर हमले की निंदा की है। हार्दिक पटेल ने साफ-साफ कहा है कि हम एक अपराधी के चलते पूरे प्रदेश को गलत नहीं ठहरा सकते। उधर अपने लोगों पर हो रहे हमलों से चिंतित बिहार और यूपी के सीएम ने गुजरात के मुख्यमंत्री से बात की है। इस बीच खबर ये भी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने गुजरात के सीएम को जमकर फटकार लगाई है। छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में विधानसभा चुनावों को लेकर चिंतित बीजेपी नहीं चाहती कि गुजरात की घटना को लेकर हिंदीभाषियों के बीच कोई गलत संदेश जाए।
 
राजनेताओं को सियासत करनी है और वो करते रहेंगे...लेकिन रेप की घटना को राजनीतिक रंग देकर किसी खास राज्य के लोगों को निशाना बनाना कहां तक सही है। अपराधी का किसी जाति, समाज और धर्म से कोई लेना-देना नहीं....हमारी नजर में वो सिर्फ एक अपराधी है। हम सभी पहले देशवासी हैं....हमें उन लोगों से सावधान रहने की जरूरत है जो वोट के लिए हमें आपस में बांटने का काम करते हैं।
 
-मनोज झा

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

शेयर करें: