प्रधानमंत्री, भावी प्रधानमंत्री, निरंतर प्रधानमंत्री जैसे विशेषणों के तिराहे पर मूर्धन्य खड़े मोदी

By अभिनय आकाश | Publish Date: May 23 2019 7:56PM
प्रधानमंत्री, भावी प्रधानमंत्री, निरंतर प्रधानमंत्री जैसे विशेषणों के तिराहे पर मूर्धन्य खड़े मोदी
Image Source: Google

जीत के निशान को दोनों हाथों से प्रमाणित करते हुए मोदी ने दीन दयाल उपाध्याय और श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण करके एक तरफ भाजपा की संस्कृति के प्रतीकों और विचारधारा को सम्मान दिया वहीं दूसरी तरफ लोकतंत्र में जनता को जनार्दन बताते हुए देश के आदर्शों को प्रणाम किया।

नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी के सत्ता के शिखर पर कदमताल करने की कहानी लिखे जाने के बाद दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय तो जैसे अपने सबसे बड़े स्टार के लिए पलके बिछाए बैठा था। यह तो तय है कि मोदी तो मोदी हैं और मोदी जैसा कोई नहीं। मोदी भाजपा की आन हैं, शान हैं, ईमान हैं और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के जनादेश की पहचान हैं। भाजपा को मिली इस विराट सफलता के मैन ऑफ द मैच नरेंद्र मोदी और कप्तान अमित शाह की जोड़ी पूरे देश में ऐसी दौड़ी की क्या भोपाल क्या जयपुर क्या बंगाल एक-एक कर सारे प्रदेश भाजपा की झोली में आकर गिरने लगे। जिसके बाद नरेंद्र मोदी का भाजपा मुख्यालय में कार्यकर्ताओंं द्वारा ऐसा स्वागत तो बनता है। पुष्पहार, बंदनवार, तोरण द्वार, फूलों की बौछार और मुद्रा कुछ ऐसी की तेरा तुझको अर्पण क्या लागे मेरा। गुजरती हुई सत्ता और आती हुई सत्ता के संधिस्थल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सियासी सफलता के साम्राज्य हो गए। सफलता के इस फ्रेम में चाहे जितने लोग मौजूद हों लेकिन नज़र तो सिर्फ मोदी ही आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: चुनाव के बाद'शाह' ने गांधीनगर का मैदान रिकॉर्ड वोटों से किया फ़तह





जीत के निशान को दोनों हाथों से प्रमाणित करते हुए मोदी ने दीन दयाल उपाध्याय और श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण करके एक तरफ भाजपा की संस्कृति के प्रतीकों और विचारधारा को सम्मान दिया वहीं दूसरी तरफ लोकतंत्र में जनता को जनार्दन बताते हुए देश के आदर्शों को प्रणाम किया। पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज स्वयं मेघराज भी इस विजयोत्सव में सरीक होने के लिए हमारे बीच हैं। 2019 लोकसभा के चुनाव में हम सब देशवासियों के पास नए भारत के लिए जनादेश लेने गए थे। आज हम देख रहे हैं कि देश के कोटि-कोटि नागरिकों ने इस फकीर की झोली को भर दिया है। मोदी ने कहा ये चुनाव कोई नेता नहीं लड़ रहा बल्कि ये चुनाव देश की जनता लड़ रही है।

इसे भी पढ़ें: चुनाव में अभूतपूर्व जीत के लिए आडवाणी ने मोदी को बधाई दी

अपनी जीत को हिन्दुस्तान और लोकतंत्र की विजय बताते हुए पीएम मोदी ने कहा कि नम्रता पूर्वक इस जीत को जनता के चरणों में अर्पित करते हैं। देश आजाद हुआ इतने लोकसभा के चुनाव हुए, लेकिन आजादी के बाद इतने चुनाव होने के बाद सबसे अधिक मतदान इस चुनाव में हुआ है। मोदी ने चुनावी हिंसा में घायल और मरने वाले लोगों के प्रति संवेदवना प्रकट करते हुए कहा कि मैं इस लोकतंत्र के उत्सव में लोकतंत्र की खातिर, जिन-जिन लोगों ने बलिदान दिया है, जो घायल हुए हैं, उनके पारिवारजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं।

इसे भी पढ़ें: जीत की तरफ कदम बढ़ाते BJP और मोदी के लिए आडवाणी ने कही ये बातें

इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पार्टी मुख्यालय पहुंच पहुंचे तो वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। अमित शाह कार्यकर्ताओं का अभिवादन स्वीकार करते हुए कहा कि रुझानों में यह जीत पूरे भारत की जीत है। देश के युवा, गरीब, किसान की आशाओं की जीत है। शाह ने भाजपा के विराट विजय को पीएम मोदी जी की पांच साल के विकास और मजबूत नेतृत्व में जनता के विश्वास की जीत बताया। शाह ने कहा कि जनादेश ने परिवारवाद, जातिवाद को खत्म कर दिया। मोदी को महाविजय के महानायक बताते हुए कहा कि एक ओर जनता ने मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा को जिताया है। दूसरी ओर कांग्रेस को करारी हार देखनी पड़ी है। देश के 17 राज्यों में कांग्रेस को बिग जीरो मिला है। भाजपा के इस ऐतिहासिक विजय के जश्न में राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज थावरचंद गहलोत, रामलाल समते भाजपा के दिग्गज नेताओं समेत कार्यकर्ताओं का जमावड़ा दिखा। 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   



Disclaimer: The views expressed here are solely those of the author in his/her private capacity and do not necessarily reflect the opinions, beliefs and viewpoints of Prabhasakshi and do not in any way represent the views of Prabhasakshi.

Related Story

Related Video