अटल इनोवेशन मिशन ने आमंत्रित किये नये केंद्र के लिए आवेदन

Atal Community Innovation Centre
ISW
एसीआईसी की परिकल्पना में स्टार्ट-अप और नवाचारी इको-सिस्टम को ध्यान में रखते हुये देश के उन सभी हिस्सों को शामिल किया गया है, जहाँ तक नवाचारी इको-सिस्टम की पहुँच सीमित है। हर एसीआईसी को पाँच वर्षों के समय में 2.5 करोड़ रुपये का अनुदान दिया जाता है।

अटल इनोवेशन मिशन (एआईएम) ने अपने दो अग्रणी कार्यक्रमों अटल इनक्यूबेशन केंद्र (एआईसी) और अटल कम्यूनिटी इनोवेशन केंद्र (एसीआईसी) के लिये आवेदन आमंत्रित किए हैं। इन दोनों कार्यक्रमों में विश्व स्तरीय संस्थानों की स्थापना के जरिये नवाचार इको-सिस्टम के सृजन तथा समर्थन की परिकल्पना की गई है। इनक्यूबेटरों के मौजूदा इको-सिस्टम को बढ़ाने और विश्वस्तरीय मानकों तथा उत्कृष्ट तौर-तरीकों तक उनकी पहुँच बनाने के उद्देश्य से ये आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। 

एआईसी, एआईएम, नीति आयोग की पहल है, ताकि नवाचार और उद्यमशीलता की भावना को बढ़ावा दिया जा सके। इसके माध्यम से देश में स्टार्ट-अप और उद्यमियों के लिये सहायक इको-सिस्टम की स्थापना पर जोर दिया जाता है। हर एआईसी को पाँच वर्ष की अवधि में 10 करोड़ रुपये का अनुदान दिया जाता है। वर्ष 2016 के बाद से एआईएम ने 18 राज्यों और तीन केंद्र शासित प्रदेशों में 68 अटल इनक्यूबेशन केंद्र स्थापित किये हैं, जो 2700 से अधिक स्टार्ट-अप की सहायता करते हैं। नीति आयोग द्वारा जारी एक ताजा वक्तव्य में यह जानकारी प्रदान की गई है।

इसे भी पढ़ें: प्लास्टिक कचरे से कलात्मक चीजें बना रहे हैं छात्र

एसीआईसी की परिकल्पना में स्टार्ट-अप और नवाचारी इको-सिस्टम को ध्यान में रखते हुये देश के उन सभी हिस्सों को शामिल किया गया है, जहाँ तक नवाचारी इको-सिस्टम की पहुँच सीमित है। हर एसीआईसी को पाँच वर्षों के समय में 2.5 करोड़ रुपये का अनुदान दिया जाता है। एआईएम ने देशभर में 14 अटल कम्यूनिटी इनोवेशन केंद्र स्थापित किये हैं।

नीति आयोग के सीईओ परमेश्वरन अय्यर ने कहा है कि “विकास के लिये नवाचार एक अद्वितीय माध्यम है और नवाचार में तेजी लाने वाले माध्यम को सामाजिक उद्यमशीलता के साथ जोड़ा जाना चाहिये।” उन्होंने भारत के लिये नवोन्मेष करने और भारत से नवोन्मेष करने में देश के सामने आने वाली चुनौतियों का समाधान करने के माननीय प्रधानमंत्री की परिकल्पना पर भी बल दिया।

इसे भी पढ़ें: अनुसंधान के लिए भारतीय विज्ञान संस्थान और नौसेना में करार

एआईएम के मिशन निदेशक डॉ चिन्तन वैष्णव ने कहा है, “राष्ट्र के रूप में पाँच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनने के लिये स्टार्ट-अप इको-सिस्टम की तरफ से भरपूर सहयोग और समर्थन की जरूरत है, और अटल इनोवेशन मिशन इसके लिये प्रतिबद्ध है। आज हम देखते हैं कि समावेशी इनक्यूबेशन पहल पर अधिक ध्यान दिया जा रहा है, जिससे अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों को लाभ होगा।”

नीति आयोग द्वारा शुरू किए अटल इनोवेशन मिशन का उद्देश्य स्कूल, विश्वविद्यालयो, अनुसंधान संस्थानों, लघु, कुटीर एवं मध्यम उपक्रमों और उद्योग स्तरों पर नवाचार एवं उद्यमिता का एक पारिस्थितिकी तंत्र विकसित करना है। इस मिशन के अंतर्गत बुनियादी ढांचे के निर्माण और संस्था निर्माण दोनों पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। अटल इनक्यूबेशन केंद्र (एआईसी) के लिए https://aimapp2.aim.gov.in/aic2022/, और अटल कम्यूनिटी इनोवेशन केंद्र (एसीआईसी) के लिए आवेदक https://acic.aim.gov.in/acic-application/ लिंक के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। 

(इंडिया साइंस वायर)

अन्य न्यूज़