Prabhasakshi
बुधवार, सितम्बर 19 2018 | समय 06:51 Hrs(IST)

खेल

बड़ा उलटफेर! एंडरसन ने फेडरर को बाहर का रास्ता दिखाया, जोकोविच आगे बढ़े

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 12 2018 9:16AM

बड़ा उलटफेर! एंडरसन ने फेडरर को बाहर का रास्ता दिखाया, जोकोविच आगे बढ़े
Image Source: Google

लंदन। गत चैंपियन रोजर फेडरर आज यहां दो सेट की बढ़त और मैच प्वाइंट हासिल करने के बावजूद दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में शिकस्त के साथ विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट से बाहर हो गए। तीन बार के चैम्पियन नोवाक जोकोविच ने हालांकि सेंटर कोर्ट पर जापान के केई निशिकोरी के खिलाफ जीत के साथ आठवीं बार विंबलडन सेमीफाइनल में जगह बनाई। 

 
दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी फेडरर का नौवां विंबलडन खिताब जीतने का सपना आज यहां टूट गया जब स्विट्जरलैंड के इस खिलाड़ी को चार घंटे और 13 मिनट चले मुकाबले में 2-6, 6-7 (5/7), 7-5, 6-4, 13-11 से हार का सामना करना पड़ा। वर्ष 2013 में सर्जेइ स्टाखोवस्की के खिलाफ दूसरे दौर में उलटफेर भरी हार के बाद यह विंबलडन में फेडरर का सबसे खराब प्रदर्शन है।
 
आठवें वरीय एंडरसन रविवार को होने वाले फाइनल में जगह बनाने के लिए अब 2016 के उप विजेता मिलोस राओनिक और अमेरिका के नौवें वरीय जान इसनर के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ेंगे। एंडरसन ने कहा, ‘‘दो सेट से पिछड़ने के बाद मैंने संघर्ष जारी रखने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। यहां विंबलडन में रोजर फेडरर को हराना मैं याद रखूंगा, विशेषकर इस तरह के करीबी मैच में।’’ 
 
दूसरी तरफ जोकोविच ने निशिकोरी के खिलाफ 6-3, 3-6, 6-2, 6-2 की शानदार जीत से अंतिम चार में जगह बनाई। वह अपने 32वें ग्रैंडस्लैम सेमीफाइनल में खेलेंगे जिसमें उनका सामना दुनिया के नंबर एक रफेल नडाल और पांचवीं वरीयता प्राप्त जुआन मार्टिन डेल पोत्रो के बीच होने वाले मुकाबले के विजेता से होगा। बीस बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन फेडरर पहले दो सेट जीतकर विंबडलन में लगातार पांचवें सेमीफाइनल की ओर बढ़ रहे थे लेकिन एंडरसन इसके बाद जोरदार वापसी करने में सफल रहे।
 
फेडरर ने पहले दो सेट जीतकर विंबलडन में लगातार 34 सेट जीतने के अपने ही रिकार्ड की बराबरी भी की जो उन्होंने 2005 और 2006 के दौरान बनाया था।आठवें वरीय एंडरसन 1983 में केविन कुरेन के बाद विंबलडन सेमीफाइनल में जगह बनाने वाले दक्षिण अफ्रीका के पहले पुरुष खिलाड़ी हैं।जोकोविच का 2016 फ्रेंच ओपन (जब उन्होंने करियर ग्रैंडस्लैम पूरा किया था) के बाद यह मेजर टूर्नामेंट में पहला सेमीफाइनल है। बारह बार के मेजर विजेता ने दो ‘आचार संहिता उल्लघंन’ की चेतावनी मिलने के बावजूद जीत दर्ज की, उन्होंने अंपायर कार्लोस रामोस पर ‘दोहरे मानदंड’ अपनाने का आरोप लगाया।
 
जोकोविच को दूसरे सेट में कोर्ट पर रैकेट मारने के लिये चेताया गया, उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि पहली चेतावनी गैरजरूरी थी। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘इससे घास को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था। केई ने चौथे सेट में यही किया था लेकिन उसे चेतावनी नहीं दी गयी।’’ जोकोविच ने कहा, ‘‘अंपायर ने कहा कि उन्होंने इसे नहीं देखा। मुझे नहीं लगता कि यह उचित है लेकिन ऐसा ही है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ग्रैंडस्लैम के अंतिम चार में पहुंचना शानदार है। मैं पिछले हफ्ते से अच्छा कर रहा हूं और मेरा स्तर भी ऊंचा हो रहा है। मैं सही समय पर लय हासिल कर रहा हूं। ’’ पहला सेट अपने नाम करने के बाद जोकोविच को दूसरे सेट के तीसरे गेम में तीन ब्रेक प्वाइंट गंवाने की हताशा में अपना रैकेट घास पर मारकर खेल भावना के विपरीत व्यवहार करने के लिये पहली आचार संहिता उल्लघंन की चेतावनी दी गयी। उन्होंने कहा, ‘‘क्या आपको लगता है कि मैंने कोर्ट को नुकसान पहुंचाया?’’ 
 
वर्ष 2011, 2014 और 2015 का चैम्पियन हालांकि इससे काफी आहत हो गया और उन्होंने सेट गंवा दिया। जोकोविच ने तीसरे सेट के पांचवें गेम में तीन ब्रेक प्वाइंट बचाये और 4-2 से ब्रेक करते हुए इसे अपने नाम कर 2-1 की बढ़त बना ली। निशिकोरी चौथे सेट में ब्रेक करते हुए 1-0 से आगे हो गए लेकिन उन्होंने लगातार दो सर्विस गंवा दी। रामोस ने निशिकोरी को उसी प्रतिक्रिया पर सजा नहीं दी जिसके लिये जोकोविच को चेताया गया था।दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी ने जोर से चिल्लाकर कहा, ‘‘मेरे दोस्त, दोहरे मानदंड।’’ रामोस ने जोकोविच को चौथे सेट के सातवें गेम में सर्विस के लिये जरूरत से ज्यादा समय लेने के उल्लघंन के लिये चेताया।लेकिन 12वें वरीय ने अंतिम चार में जगह बना ली, उन्होंने इस दौरान 40 विनर जमाये। 
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप


शेयर करें: