झारखंड के तीरंदाजी कोच धर्मेंद्र तिवारी को मिलेगा द्रोणाचार्य पुरस्कार, हेमन्त सोरेन ने दी बधाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 30, 2020   10:45
झारखंड के तीरंदाजी कोच धर्मेंद्र तिवारी को मिलेगा द्रोणाचार्य पुरस्कार, हेमन्त सोरेन ने दी बधाई

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने टाटा स्टील आर्चरी एकेडमी के तीरंदाजी प्रशिक्षक धर्मेंद्र तिवारी को द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किये जाने पर बधाई व शुभकामनाएं दी है।

रांची। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने टाटा स्टील आर्चरी एकेडमी के तीरंदाजी प्रशिक्षक धर्मेंद्र तिवारी को द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किये जाने पर बधाई व शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री ने कहा भारत का सबसे प्रतिष्ठित गुरु सम्मान झारखण्ड के प्रशिक्षक को मिलने से पूरा राज्य गौरवान्वित हुआ है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘तीरंदाजी के क्षेत्र में उनका महत्वपूर्ण योगदान आने वाले दिनों में भी वर्तमान एवं भावी खिलाड़ियों को मिलता रहेगा।

इसे भी पढ़ें: PM मोदी ने खेल पुरस्कारों से सम्मानित सभी खिलाड़ियों को दी बधाई, कहा- उनकी सफलता युवाओं को करेगी प्रेरित

टाटा आर्चरी एकेडमी के कोच धर्मेंद्र तिवारी झारखंड के तीसरे द्रोणाचार्य अवार्डी होंगे। धर्मेंद्र तिवारी से पहले एकेडमी के प्रशिक्षक संजीव सिंह और पूर्णिमा महतो को द्रोणाचार्य अवार्ड मिल चुका है। राष्ट्रीय खेल दिवस पर नई दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद धर्मेंद्र तिवारी को सम्मानित करेंगे। 

इंतजार तो था, लग रहा है सपना साकार हुआ: जमशेदपुर के शांत, सैम्य स्वभाव वाले धर्मेंद्र तिवारी झारखंड से तीसरे द्वोणाचार्य अवार्डी बनेंगे। उनसे पहले संजीव सिंह और पूर्णिमा महतो को यह सम्मान मिल चुका है। धर्मेंद्र तिवारी ने मंगलवार को  हिन्दुस्तान से बातचीत में कहा कि र् अवार्ड के लिए चुने जाने से खुश हूं। बड़ा अच्छा लग रहा है, कई वर्षों से इसका इंतजार था। अब सपना साकार हो रहा है। धर्मेंद्र ने कहा कि मेरा लक्ष्य है कि मेरे शिष्य ओलंपिक में पदकजीतें। अभी  जयंत तालुकदार, कोमालिका बारी और अंकिता कुमारी को लेकर तैयारी चल रही है।  





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।