BCCI या तो पाक से पूरी तरह नाता तोड़े या हर स्तर पर खेले: गंभीर

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 18 2019 6:49PM
BCCI या तो पाक से पूरी तरह नाता तोड़े या हर स्तर पर खेले: गंभीर
Image Source: Google

पुलवामा में जो हुआ , वह कतई स्वीकार्य नहीं है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘भारत के लिये आईसीसी टूर्नामेंटों में पाकिस्तान का बहिष्कार कर पाना मुश्किल होगा लेकिन एशिया कप में हम उनसे नहीं खेलें।

नयी दिल्ली। भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने सोमवार को कहा कि बीसीसीआई या तो पाकिस्तान के साथ सारे क्रिकेट संबंध तोड़ ले या हर स्तर पर उसके साथ खेले क्योंकि ‘सशर्त प्रतिबंध’ नहीं हो सकता। पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के साथ हर स्तर पर संबंध तोड़ने की मांग करने वाले गंभीर ने कहा कि भारतीय बोर्ड को तय करना है और उसके परिणाम झेलने के लिये तैयार रहना होगा। हाल ही में पद्मश्री से नवाजे गए गंभीर ने ‘फनगेज डाट काम’ के प्रचार कार्यक्रम से इतर पत्रकारों से कहा, ‘‘सशर्त प्रतिबंध नहीं हो सकता। या तो पाकिस्तान के साथ पूरे क्रिकेट संबंध तोड़ लिये जायें या हर स्तर पर खेले। पुलवामा में जो हुआ , वह कतई स्वीकार्य नहीं है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘भारत के लिये आईसीसी टूर्नामेंटों में पाकिस्तान का बहिष्कार कर पाना मुश्किल होगा लेकिन एशिया कप में हम उनसे नहीं खेलें।



 
 
गंभीर ने कहा कि पाकिस्तान के साथ हर स्तर पर ताल्लुकात खत्म होने चाहिये भले ही खेल जगत इसका बहिष्कार कर दे। बीसीसीआई ने आईसीसी से अपील की थी कि आतंक को पनाह देने वाले देशों से ताल्लुक तोड़ लिये जाये लेकिन आईसीसी बोर्ड ने दुबई में हुई बैठक में यह अनुरोध खारिज कर दिया। गंभीर ने इंग्लैंड का हवाला दिया जिसने राबर्ट मुगाबे सरकार के खिलाफ विरोध के तहत जिम्बाब्वे के साथ राउंड राबिन मैच नहीं खेला था। उन्होंने कहा, ‘‘इंग्लैंड ने 2003 में ऐसा किया और वे जिम्बाब्वे नहीं गए। बीसीसीआई अगर पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलने का फैसला लेता है तो दो अंक गंवाने के लिये मानसिक तौर पर तैयार रहना होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं और संभव है कि हम सेमीफाइनल में क्वालीफाई नहीं कर सके। मीडिया को भारतीय टीम को दोष नहीं देना चाहिये अगर वह पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलती है तो।’’ यह पूछने पर कि फाइनल में दोनों टीमों की टक्कर होने पर क्या होगा, गंभीर ने कहा कि ऐसे में भारत को फाइनल छोड़ देना चाहिये। 
उन्होंने कहा, ‘‘दो अंक अहम नहीं है। देश अहम है। जिन 40 जवानों ने शहादत दी , वे क्रिकेट मैच से अधिक महत्वपूर्ण थे। यदि हम विश्व कप फाइनल भी छोड़ देते हैं तो देश को इसके लिये तैयार रहना चाहिये।’’ गंभीर ने कहा, ‘‘समाज का एक तबका कहता है कि खेलों को राजनीति से नहीं जोड़ना चाहिये लेकिन जवान क्रिकेट के खेल से अधिक अहम हैं।’’ लोकसभा चुनाव में भाजपा से टिकट मिलने की अटकलों के बीच गंभीर ने कहा कि अभी उन्होंने इस बारे में सोचा नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘पूरी जिंदगी मैं क्रिकेट खेलता रहा। मैने लोगों से सुना है कि पूर्णकालिक राजनीति इंसान को बदल देती है। मेरी दो छोटी बेटियां है और मुझे उनके साथ समय बिताना है। मैंने भी अटकलें सुनी है लेकिन मैं फिलहाल आईपीएल के दौरान स्टार स्पोटर्स पर कमेंट्री कर रहा हूं।’’
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video