चिंकी यादव को गोल्ड, भारत ने महिला 25 मीटर पिस्टल में सभी पदक जीते

Chinky Yadav
उन्नीस साल की मनु ने डा कर्णी सिंह शूटिंग रेंज पर एलिमिनेशन चरण में 28 अंक से कांस्य पदक से संतोष किया जिसके बाद चिंकी और सरनोबत के बीच शीर्ष स्थान के लिये मुकाबला हुआ। ये तीनों निशानेबाज तोक्यो ओलंपिक के लिये पहले ही कोटा हासिल कर चुकी हैं।

नयी दिल्ली। चिंकी यादव ने बुधवार को यहां अनुभवी राही सरनोबत के साथ कड़ी प्रतिद्वंद्वी मनु भाकर को पछाड़ते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया जिससे भारत ने आईएसएसएफ विश्व कप की महिला 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में तीनों पदक जीत लिये। इस प्रदर्शन से भारत की निशानेबाजी में प्रतिभा की गहराई का भी अंदाजा लग जाता है। 23 साल की चिंकी ने समान 32 अंक के कारण हुए शूट-ऑफ में सरनोबत को 4-3 से पछाड़ दिया जिससे भारत के स्वर्ण पदकों की संख्या नौ हो गयी। उन्नीस साल की मनु ने डा कर्णी सिंह शूटिंग रेंज पर एलिमिनेशन चरण में 28 अंक से कांस्य पदक से संतोष किया जिसके बाद चिंकी और सरनोबत के बीच शीर्ष स्थान के लिये मुकाबला हुआ। ये तीनों निशानेबाज तोक्यो ओलंपिक के लिये पहले ही कोटा हासिल कर चुकी हैं।

इसे भी पढ़ें: वनडे टीम से बाहर किये जाने के बाद प्रेरित हुई, महसूस हुआ कि मेरे खेल में कुछ कमी है: शेफाली

चिंकी ने 2019 में दोहा में हुई 14वीं एशियाई चैम्पियनशिप में दूसरे स्थान पर रहकर ओलंपिक कोटा जीता था। पहले 20 निशानों में वह 14 के स्कोर से आगे चल रही थी। उनके बाद मनु 13 अंक से दूसरे स्थान पर थीं। फिर भोपाल की निशानेबाज ने 21 के स्कोर से बाकियों पर बढ़त बना ली जिसके बाद शुरू में जूझने वाली अनुभवी सरनोबत ने भी वापसी की। फाइनल्स में चिंकी ने दो सही निशानों से शुरूआत की लेकिन फिर दो बार (एलिमिनेशन चरण की दूसरी और छठी सीरीज) पाचों के पांचों निशाने सही लगाये। इन तीनों में सबसे अनुभवी सरनोबत ने पहले चरण की तीसरी सीरीज में सभी पाचों निशानों पर अंक जुटाये जिसके बाद एलिमिनेशन में चौथी, सातवीं और नौंवी सीरीज में चार चार निशाने लगाये। तीसरी रैंकिंग की मनु चौथी सीरीज में ही पांचों के पांचों निशाने सही लगा पायी। सुबह ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर ने पुरूषों की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़