बल्लेबाजी की कमजोरियों से पार पाने उतरेंगे इंग्लैंड-बांग्लादेश

दर्शकों को किसी भी खेल प्रतियोगिता में समय से पहले स्टेडियम में पहुंचने की सलाह दी जाती है और अगर वे इंग्लैंड और बांग्लादेश के बीच ओवल में चैंपियन्स ट्राफी के शुरूआती मैच में समय पर नहीं पहुंच पाते हैं।

लंदन। दर्शकों को किसी भी खेल प्रतियोगिता में समय से पहले स्टेडियम में पहुंचने की सलाह दी जाती है और अगर वे इंग्लैंड और बांग्लादेश के बीच ओवल में चैंपियन्स ट्राफी के शुरूआती मैच में समय पर नहीं पहुंच पाते हैं तो हो सकता है कि वे इसका कुछ महत्वपूर्ण हिस्सा नहीं देख पाएं। यहां तक कि जून में भी सुबह बादल छाये रहने से गेंदबाजों को स्विंग मिलती है जो कि इंग्लैंड में क्रिकेट की परिस्थितियों का अहम अंग बन गया है। इसका सबूत सोमवार को देखने को मिला जब इंग्लैंड ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे एकदिवसीय मैच में पांच ओवर के अंदर 20 रन पर छह विकेट गंवा दिये थे जो कि एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उसकी सबसे खराब शुरूआत है। कैगिसो रबादा और वायने पर्नेल ने परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाकर इंग्लैंड की बल्लेबाजी को ध्वस्त कर दिया था। पिच पर हरी घास इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन को रास नहीं आयी लेकिन यहां तक कि अधिक सपाट पिचों पर भी यह एक मसला है कि जब बादल छाये हों तब कैसे बल्लेबाजी की जाए। इंग्लैंड में यहां तक कि दिन भर ऐसी परिस्थिति बनी रह सकती है। अब बांग्लादेश को ही देखिये। ओवल में अभ्यास मैच में मौजूदा चैंपियन भारत के 324 रन के जवाब में उसकी टीम 84 रन पर ढेर हो गयी। बांग्लादेश निश्चित तौर पर 240 रन से हार नहीं चाहता था क्योंकि उसे एक दिन बाद ही चैंपियन्स ट्राफी में इंग्लैंड के खिलाफ अपना अभियान शुरू करना है जिसने पिछले दो वर्षों में सीमित ओवरों के अपने खेल में काफी सुधार किया है। इंग्लैंड की अगर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अंतिम वनडे में बल्लेबाजों की नाकामी को छोड़ दिया जाए तो उसने पहले दोनों मैचों में अच्छा प्रदर्शन करके श्रृंखला पहले ही अपने नाम कर दी थी।

इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस ने कहा, ‘‘मैंने कभी किसी टीम को रक्षात्मक रवैया अपनाकर वैश्विक टूर्नामेंट जीतते हुए नहीं देखा। हमेशा वह टीम जीतती रही है जिसने साहसिक खेल दिखाया।’’ जहां तक बांग्लादेश का सवाल है तो भारत के खिलाफ उसने 7–3 ओवर में 22 रन पर छह विकेट गंवा दिये थे जो इंग्लैंड के सोमवार के प्रदर्शन से बुरा नहीं था लेकिन दोनों की चिंताए एक जैसी हैं। लेकिन भारत के खिलाफ सर्वाधिक 24 रन बनाने वाले मेहदी हसन का मानना है कि उनकी टीम इंग्लैंड को हरा सकती है। उन्होंने कहा, ‘‘हां, हमने इंग्लैंड के खिलाफ पिछले कुछ मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया है और हम इस बार भी जीत के प्रति आश्वस्त हैं।’’ बांग्लादेश के कोच चंडिका हतुरासिंघे कोशिश कर रहे हैं कि भारत वाले मैच का खिलाड़ियों पर खास प्रभाव नहीं पड़े। उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर इससे मनोबल पर थोड़ा प्रभाव पड़ता है लेकिन यह अभ्यास मैच था। हमारे लिये कल का मैच बेहद महत्वपूर्ण है। यह चैंपियन्स ट्राफी का पहला मैच है। पिछले मैच को छोड़ दिया जाए तो हमारी तैयारियां अच्छी हैं।’’ चैंपियन्स ट्राफी के इस मैच में दोनों टीमों की तरफ से कई ऐसे खिलाड़ी भी मैदान पर उतरेंगे जो विश्व कप 2015 के मैच में खेले थे जिसमें बांग्लादेश ने इंग्लैंड को हराया था। एडिलेड ओवल में खेले गये उस मैच में महमुदुल्लाह ने शतक जमाया था जबकि गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया था। हतुरासिंघे ने कहा, ‘‘आपके पूर्व के प्रदर्शन से थोड़ा बहुत आत्मविश्वास बढ़ता है लेकिन आपको हमेशा नयी शुरूआत करनी पड़ती है। हमें यहां अच्छी शुरूआत करनी होगी और हम इसी पर ध्यान दे रहे हैं।''

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़