FIFA World Cup 2022 : फुटबॉल की लत पर आई मुस्लिम संगठन की चेतावनी

fifa game
ANI Image
रितिका कमठान । Nov 26, 2022 4:47PM
फीफा फुटबॉल वर्ल्ड कप 2022 का क्रेज देश और दुनिया पर चढ़कर बोल रहा है। फीफा विश्व कप में 32 टीमें हिस्सा ले रही है। विश्व कप का फाइनल मुकाबला 18 दिसंबर को खेला जाना है। भारत में भी फीफा विश्व कप को लेकर उत्साह देखने को मिल रहा है।

पूरी दुनिया इस समय फुटबॉल वर्ल्ड कप में डूबी हुई है हर कोई इस फुटबॉल फीवर के खुमार में खोया हुआ है। चाहे कोई टीम फीफा विश्व कप में खेल रही है या नहीं, मगर इसे लेकर हर फुटबॉल प्रेमी में उत्साह देखने को मिल रहा है। भारत में भी फीफा फीवर लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। इसी बीच फुटबॉल की भारत में बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए नया विवाद उत्पन्न हो गया है।

चार वर्षों में एक बार आने वाले फीफा विश्व कप को लेकर अलग ही मस्ती देखने को मिलती है। इस मस्ती को देखते हुए केरल की केरल जेम इय्याथुल खुतबा समिति ने नयी चेतावनी दी है।

समिति ने फीफा और फुटबॉल के प्रति बढ़ते प्यार को घातक बताया है। समिति ने इस चेतावनी के जरिए कहा है कि इस बढ़ती लत के प्रति जागरूक होने का संदेश दिया है। एसोसिएशन ने कहा कि देर रात फुटबॉल मैच के कारण नमाज नहीं छूटनी चाहिए। इस संगठन के इस फतवे पर शुक्रवार को मस्जिद में प्रवचन देने के दौरान विवाद खड़ा हो गया है। समिति ने प्रशंसकों द्वारा फुटबॉल मैच देखने के लिए लाखों की राशि खर्च किए जाने पर भी काफी चिंता व्यक्त की है।

इस बयान पर अपनी राय रखते हुए केरल के शिक्षा मंत्री बी शिवनकुट्टी ने कहा कि किसी को भी व्यक्तिगत स्वतंत्रता में दखल देने का अधिकार नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि यह लोगों के अधिकार में है कि वे यह तय करें कि मैच देखना है या नहीं वह संगीत नहीं सुनेगा परन्तु पुस्तकें पढ़ेगा। किसी को भी इस मामले पर कोई प्रतिबंध लगाने का अधिकार नहीं है। समिति के मुताबिक खेलों के कारण छात्र पढ़ाई से दूर हो रहे है।

उन्होंने यह भी कहा कि समस्थ केरल जेम इय्याथुल खुतबा समिति को जागरूकता फैलाने का अधिकार है, लेकिन इसे स्वीकार करना या न करना लोगों का अधिकार भी है। समिति ने सड़कों पर और गोवा में फुटबॉल के बड़े-बड़े कटआउट दिखाकर इशारा किया है कि जिनकी आमदनी ज्यादा नहीं है वे फिजूलखर्ची कर रहे हैं। गौरतलब है कि कतर में विश्व कप 20 नवंबर से शुरू हुआ था और 18 दिसंबर को समाप्त होगा 32 देश फुटबॉल की दुनिया में अपनी श्रेष्ठता साबित करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। 

अन्य न्यूज़