हिमाचल प्रदेश ने पंजाब को हराकर सैयद मुश्ताक अली फाइनल में प्रवेश किया

Syed Mushtaq Ali T20 Trophy
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर सुमित ने 25 गेंद में 51 रन की पारी के दौरान तीन चौके और इतने ही छक्के जमाये जबकि आकाश वशिष्ठ ने 24 गेंद में 43 रन की पारी खेली जिसमें चार चौके और दो छक्के शामिल थे। इससे हिमाचल प्रदेश की टीम ने सात विकेट पर 176 रन का स्कोर खड़ा किया।

सुमित वर्मा के अर्धशतक के साथ ऋषि धवन के तीन विकेट की मदद से हिमाचल प्रदेश ने शानदार लय जारी रखते हुए गुरूवार को यहां पंजाब पर 13 रन की जीत से सैयद मुश्ताक अली ट्राफी के फाइनल में प्रवेश किया। बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर सुमित ने 25 गेंद में 51 रन की पारी के दौरान तीन चौके और इतने ही छक्के जमाये जबकि आकाश वशिष्ठ ने 24 गेंद में 43 रन की पारी खेली जिसमें चार चौके और दो छक्के शामिल थे। इससे हिमाचल प्रदेश की टीम ने सात विकेट पर 176 रन का स्कोर खड़ा किया।

जवाब में शुभमन गिल ने शीर्ष क्रम में 32 गेंद में 45 रन बनाये जबकि अनमोल प्रीत सिंह (30 रन), मंदीप सिंह (29 रन) और रमनदीप सिंह (29 रन) ने अपनी टीम को लक्ष्य तक पहुंचाने का भरसक प्रयास किया लेकिन यह कोशिश काफी नहीं रही। इससे पंजाब की टीम 20 ओवर में सात विकेट पर 163 रन ही बना सकी। इसमें हिमाचल के लिये धवन की गेंदबाजी ने अहम भूमिका निभायी जिन्होंने 25 रन देकर सलामी बल्लेबाज अभिषेक वर्मा (01), पुखराज मान (10) और रमनदीप के विकेट झटके। मयंक डागर (27 रन देकर दो विकेट), कंवर अभिनय सिंह (27 रन देकर एक विकेट) और आकाश वशिष्ठ (आठ रन देकर एक विकेट) ने भी विकेट चटकाये।

2021-22 विजय हजारे ट्राफी की विजेता हिमाचल प्रदेश ने पावरप्ले में 32 रन पर दो विकेट खो दिये थे। लेकिन सुमित और आकाश 23 गेंद में 45 रन बनाकर टीम को 100 रन के स्कोर तक ले गये। सुमित 13वें ओवर में सनवीर सिंह का शिकार बने जबकि आकाश ने जिम्मेदारी से खेलते हुए पंकज जायसवाल (27 रन, 16 गेंद, दो चौके, एक छक्का) के साथ 27 गेंद में 47 रन की भागीदारी निभायी और टीम को प्रतिस्पर्धी स्कोर तक पहुंचाया। पंजाब को गिल ने अच्छी शुरूआत करायी जिन्होंने अपनी पारी के दौरान सात चौके और एक छक्का लगाया।

लेकिन उनके पवेलियन लौटने के बाद पंजाब ने 10वें ओवर में 61 रन पर तीन विकेट गंवा दिये थे। अनमोलप्रीत ने टीम को लक्ष्य तक पहुंचाने की पूरी कोशिश की लेकिन जब तक वह लय में आये तब तक पंजाब की आधी टीम 15वें ओवर में 103 रन पर पवेलियन पहुंच चुकी थी। कप्तान मंदीप और रमनदीप ने 38 रन की साझेदारी बनाकर उम्मीद जगायी लेकिन तब बहुत देर हो चुकी थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़