FIFA World Cup 2022 : अरब देशों का समर्थन हासिल करना चाहेगी ट्यूनीशिया, आस्ट्रेलिया के खिलाफ मुकाबले में होगी मदद

tunisia fans
ANI Image
डेनमार्क को गोलरहित ड्रा पर रोकने के बाद आत्मविश्वास से भरी ट्यूनीशियाई टीम का मुकाबला आस्ट्रेलिया से होगा। ट्यूनीशिया के जीत की दुआ अब फलस्तीन का झंडा लेने वाले प्रशंसकों के साथ अब मिस्र और अल्जीरिया टीम भी कर रही है। प्वाइंट्स की बात करें तो ट्यूनीशिया के पास एक अंक हैं।

दोहा। डेनमार्क को गोलरहित ड्रा पर रोकने के बाद आत्मविश्वास से भरी ट्यूनीशियाई टीम शनिवार को यहां फीफा विश्व कप ग्रुप डी के दूसरे मैच में आस्ट्रेलिया के सामने होगी जिसमें उसे दर्शकों से घर जैसा समर्थन मिलेगा। विश्व कप में जगह बनाने वाली अरब देशों की चार टीमों में से एक ट्यूनीशिया ने यूरोपीय चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली डेनमार्क को ड्रा पर रोकने के बाद प्रशंसकों को अपना मुरीद बना लिया। उसके समर्थक सिर्फ ट्यूनीशिया के ही नहीं हैं बल्कि फलस्तीन का झंडा लेने वाले प्रशंसक भी उसकी जीत की उम्मीद कर रहे हैं। 

मिस्र और अल्जीरिया टीम के समर्थक भी उसकी जीत की दुआ कर रहे हैं। कोच जलेल कादरी ने कहा कि दोहा में ट्यूनीशिया के और अन्य प्रशंसकों के समर्थन से हमारा मनोबल बढ़ेगा। आस्ट्रेलिया को ग्रुप डी में अपने शुरूआती मैच में गत चैम्पियन फ्रांस से 1-4 से शिकस्त झेलनी पड़ी। आस्ट्रेलियाई मिडफील्डर जैक्सन इर्विन ने कहा कि हमने फ्रांस के खिलाफ मैच से सबक सीखा, जिसमें हमने दूर से तीन गोल गंवाये।

फ्रांस तीन अंक लेकर ग्रुप में शीर्ष पर है जबकि ट्यूनीशिया और डेनमार्क के एक एक अंक हैं। आस्ट्रेलिया का खाता नहीं खुला है। ट्यूनीशिया की निगाहें अपने छठे विश्व कप में पहली बार ग्रुप चरण से आगे बढ़ने पर लगी हैं। वहीं आस्ट्रेलियाई टीम पांच बार विश्व कप में खेली है और एक बार 2006 में ही अंतिम 16 में पहुंची थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़