भारतीय निशानेबाज मनु, सौरभ के स्वर्ण से भारत का दबदबा रहा बरकरार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 29, 2019   19:00
भारतीय निशानेबाज मनु, सौरभ के स्वर्ण से भारत का दबदबा रहा बरकरार

मनु प्रतियोगिता के तीसरे दिन महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम करने में सफल रहीं जबकि सौरभ ने पुरूषों के टीम स्पर्धा का पीला तमगा हासिल किया। मिश्रित स्पर्धा में निराशाजन प्रदर्शन करने वाले अभिषेक वर्मा ने पुरूषों के 10 मीटर एयर पिस्टल एकल स्पर्धा में रजत पदक हासिल किया।

नयी दिल्ली।युवा भारतीय निशानेबाजों मनु भाकर और सौरभ चौधरी ने शुक्रवार को अपने-अपने मुकाबले में स्वर्ण पदक जीता जिससे चीनी ताइपै में चल रही 12वीं एशियाई एयरगन चैम्पियनशिप में भारत का दबदबा कायम है। मनु और सौरभ दोनों के लिए टूर्नामेंट में यह दूसरा स्वर्ण पदक है। मनु प्रतियोगिता के तीसरे दिन महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम करने में सफल रहीं जबकि सौरभ ने पुरूषों के टीम स्पर्धा का पीला तमगा हासिल किया। मिश्रित स्पर्धा में निराशाजन प्रदर्शन करने वाले अभिषेक वर्मा ने पुरूषों के 10 मीटर एयर पिस्टल एकल स्पर्धा में रजत पदक हासिल किया।

इसे भी पढ़ें: एशियाई एयरगन चैंपियनशिप में भारतीय निशानेबाज ने जीता स्वर्ण पदक

महिला पिस्टल टीम ने भी कांस्य पदक हासिल किया जिससे भारत के पदकों की संख्या नौ हो गयी। इसमें पांच स्वर्ण, तीन रजत और एक कांस्य शामिल हैं। मनु ने 600 में से 575 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहते हुए फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। फाइनल में हांग कांग की शिंग हो चिंग से कड़ी टक्कर मिली लेकिन 24 निशाने के फाइनल में मनु ने 239 के मुकाबले शिंग 237.9 का स्कोर ही कर सकी। यूएई की वाफा अलाई ने कांस्य पदक जीता।फाइनल में जगह पक्की करने वाली एक अन्य भारतीय श्री निवेदिता छठें स्थान पर रही। 

इसे भी पढ़ें: पुरुष स्कीट में शीराज भारतीय निशानेबाजों में सर्वश्रेष्ठ, किंबर्ली को महिला वर्ग का खिताब

पुरुषों के फाइनल में तीन भारतीयों ने फाइनल में जगह पक्की की। क्वालीफिकेशन में सौरभ 587 अंक के साथ शीर्ष पर रहे जबकि रविंदर 578 अंक के साथ चौथे और अभिषेक 577 के स्कोर के साथ पांचवें स्थान पर रहते हुए फाइनल में जगह पक्की की। अभिषेक (240.7) को 0.2 अंक से कोरिया के मोसे किम से पिछड़ कर रजत पदक से संतोष करना पड़ा। सौरभ (198.8) कांस्य पदक विजेता कोरिया के ही ताइहवान ली से पिछड़ गये जबकि रविन्द्र 136.3 अंक के साथ सातवें स्थान पर रहे। भारतीय तिकड़ी हालांकि 1742 अंक के साथ टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीतने में कामयाब रही।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।