ओलंपिक खेलने का सपना पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ी नेहा गोयल

neha goyal
प्रतिरूप फोटो
भारतीय महिला हॉकी टीम की मिडफील्डर नेहा गोयल ओलंपिक खेलने का सपना पूरा करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है।रियो ओलंपिक खेलने वाले खिलाड़ियों से मैने कई कहानियां सुनी है। ओलंपिक खेलने की प्रेरणा हर अभ्यास सत्र में सौ फीसदी देने के लिये प्रेरित करती है।

बेंगलुरू। ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करना हर खिलाड़ी का सपना होता है और भारतीय महिला हॉकी टीम की मिडफील्डर नेहा गोयल ने कहा कि वह इसके लिये हरसंभव प्रयास करेगी। ओलंपिक इस साल जुलाई अगस्त में होने वाले हैं। गोयल ने हॉकी इंडिया द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा ,‘‘ अंतिम टीम में जगह बनाने के लिये कोर समूह में काफी प्रतिस्पर्धा है। ओलंपिक खेलना हर खिलाड़ी का सपना होता है।

इसे भी पढ़ें: सालाना अपडेट के बाद ICC टी20 रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर है भारत

रियो ओलंपिक खेलने वाले खिलाड़ियों से मैने कई कहानियां सुनी है। ओलंपिक खेलने की प्रेरणा हर अभ्यास सत्र में सौ फीसदी देने के लिये प्रेरित करती है।’’ उसने कहा ,‘‘मैं अंतिम टीम में जगह बनाकर ओलंपिक खेलने का सपना पूरा करने की कोशिश करूंगी।’’ भारतीय महिला हॉकी टीम ने 36 साल बाद 2016 में रियो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई किया था। अब फोकस 23 जुलाई से आठ अगस्त तक तोक्यो में होने वाले ओलंपिक पर है। गोयल ने कहा ,‘‘ हमारा फोकस मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रहने पर है।हमें अपनी रफ्तार बढानी है और चोटों से दूर रहना है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़