डिप्रेशन के दिनों मां पिताजी के साथ सोना चाहता था ये फुटबॉलर खिलाड़ी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2020   18:42
डिप्रेशन के दिनों मां पिताजी के साथ सोना चाहता था ये फुटबॉलर खिलाड़ी

आंद्रे इनिस्टा अवसाद के दिनों में मां पिताजी के साथ सोना चाहता था ।इनिस्टा ने कहा, ‘‘दिन गुजर रहे थे और मुझे लग रहा था कि कोई सुधार नहीं हो रहा है। मैं अच्छा महसूस नहीं कर रहा था। हर तरफ अंधेरा नजर आ रहा था।’’

मैड्रिड।आंद्रे इनिस्टा बार्सिलोना की तरफ से खेलते समय एक बार इतने अधिक अवसादग्रस्त हो गये थे कि उन्हें चारों तरफ अंधेरा ही अंधेरा नजर आ रहा था और उनकी मां के अनुसार स्थिति इतनी बिगड़ गयी थी कि उनका 25 साल का बेटा अपने माता पिता के साथ सोने के लिये कह रहा था। इनिस्टा ने अपनी बीमारी को रॉकटेन टीवी वृत्तचित्र में किया है जो गुरुवार को जारी हुआ। इसके उन्होंने बार्सिलोना छोड़कर 2018 में जापानी क्लब विसेल कोबे से जुड़ने के बारे में भी बताया है। पेप गार्डियोला के नेतृत्व में 2009 में चैंपियन्स लीग जीतने के बाद इनिस्टा चोट से जूझ रहे थे और ऐसे में उनके मित्र दानी जार्क का 26 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। इनिस्टा ने कहा, ‘‘दिन गुजर रहे थे और मुझे लग रहा था कि कोई सुधार नहीं हो रहा है। मैं अच्छा महसूस नहीं कर रहा था। हर तरफ अंधेरा नजर आ रहा था।’’ जार्क के निधन के बारे में इनिस्टा ने कहा, ‘‘यह बहुत बड़ा झटका था जिससे मैं बुरी तरह टूट गया। मैं खुद को बहुत कमजोर महसूस करने लगा क्योंकि मैं स्वस्थ नहीं था। ’’ इनिस्टा के अवसाद के पलों को उनकी मां मारिया लुजैन और पिता जोस एंटोनियो ने भी बयां किया। मारिया ने कहा, ‘‘एक रात को मैंने देखा कि हम नीचे सो रहे थे और वह वहां आया और उसने कहा, ‘मां क्या मैं यहां आपके साथ सो सकता हूं। ’’ उनके पिता जोसा एंटोनियो ने कहा, ‘‘तब मैं सोच में पड़ गया। मेरा 25 साल का बेटा आधी रात को हमारे पास आकर हमारे साथ सोने की बात कर रहा है मतलब वह स्वस्थ नहीं है। उसने कहा कि ‘मैं अच्छा महसूस नहीं कर रहा हूं डैड’ मैंने पूछा क्या हुआ, ‘उसने कहा पता नहीं, मैं अच्छा महसूस नहीं कर रहा हूं। ’’ उनके पिता ने कहा, ‘‘एक ऐसा दौर आया जब मैंने सोचा कि उसे फुटबाल खेलना छोड़ देना चाहिए क्योंकि वह हमारे लिये सबसे महत्वपूर्ण था। ’’ इनिस्टा ने इसके बाद मनोचिकित्सक की सहायता ली और फिर वह स्वस्थ हो गये। उनके रहते हुए स्पेन ने 2010 में विश्व कप भी जीता था।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।