जेसन रॉय का सबसे मजबूत पक्ष उनका जज्बा है: इयोन मोर्गन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 9, 2019   13:46
  • Like
जेसन रॉय का सबसे मजबूत पक्ष उनका जज्बा है: इयोन मोर्गन

रॉय ने पिछले 18 महीनों के अंदर वनडे में अपना छठा शतक जमाया जिससे इंग्लैंड शनिवार को यहां बांग्लादेश को हराकर विश्व कप में फिर से जीत की राह पर लौटा।

कार्डिफ। इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन का मानना है कि सलामी बल्लेबाज जैसन रॉय ने पिछले दो वर्षों में अपने अंदर का जज्बा जगाया और अपनी प्रवृत्ति में महत्वपूर्ण सुधार से ही उन्हें पिछले दो वर्षों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शानदार सफलता मिली। रॉय ने पिछले 18 महीनों के अंदर वनडे में अपना छठा शतक जमाया जिससे इंग्लैंड शनिवार को यहां बांग्लादेश को हराकर विश्व कप में फिर से जीत की राह पर लौटा।

इसे भी पढ़ें: एबी डिविलियर्स मामले को लेकर परेशान है दक्षिण अफ्रीकी कोच गिब्सन

पाकिस्तान के खिलाफ पांच मैचों की श्रृंखला में रॉय ने बेहतरीन बल्लेबाजी की थी जबकि दो साल पहले चैंपियन्स ट्राफी के दौरान वह एक एक रन बनाने के लिये जूझ रहे थे। तब वह सेमीफाइनल तक टीम से बाहर हो चुके थे लेकिन उन्होंने जॉनी बेयरस्टॉ के साथी के रूप में फिर से वापसी की। बांग्लादेश के खिलाफ 153 रन की पारी खेलने वाले इस बल्लेबाज की कप्तान मोर्गन ने भी जमकर तारीफ की। 

मोर्गन ने कहा कि संभवत: उनका सबसे मजबूत पक्ष उनका जज्बा है। मेरा ऐसा कहने से बहुत से लोगों को हैरानी हो सकती है लेकिन आप उस पर गौर करो कि वह काउंटी क्रिकेटर से अब संपूर्ण अंतरराष्ट्रीय स्तर के क्रिकेटर के रूप में परिपक्व हो गया है। उन्होंने कहा कि उसने अपनी पारी के दौरान विभिन्न चरणों में जिस तरह का जज्बा दिखाया, जिस तरह से वह अपने शॉट लगाता था, मुझे लगता है कि अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत से लेकर अब तक उसमें काफी अंतर आ चुका है। 

इसे भी पढ़ें: जेसन रॉय के शानदार शतक से इंग्लैंड ने बांग्लादेश को 106 रन से हराया

इंग्लैंड की शानदार जीत में केवल एक ही खराब पक्ष रहा और वह था जोस बटलर का अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान चोटिल होना जिसके कारण वह विकेटकीपिंग के लिये नहीं उतर पाये। लेकिन मोर्गन ने कहा कि इस विकेटकीपर की कूल्हे की परेशानी चिंता का विषय नहीं है और उन्हें ऐहतियात के तौर पर क्षेत्ररक्षण के लिये नहीं उतारा गया। मोर्गन ने इस बीच कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ ट्रेंटब्रिज में हार के बाद उनकी टीम ने पूरी तरह से बदला हुआ प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि उस दिन की तुलना में काफी सुधार देखने को मिला। पूरे मैच के दौरान, शुरुआत से लेकर आखिर तक इसमें बदलाव दिखा। पाकिस्तान के खिलाफ हमने नियमित अंतराल में विकेट गंवाये थे। आज सलामी जोड़ी ने ठोस नींव रखी। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




ऑस्ट्रेलियाई ओपन: 47 खिलाड़ियों को भेजा गया कड़े पृथकवास पर, खिलाड़ियों में बढ़ी नाराजगी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 17, 2021   15:39
  • Like
ऑस्ट्रेलियाई ओपन: 47 खिलाड़ियों को भेजा गया कड़े पृथकवास पर, खिलाड़ियों में बढ़ी नाराजगी

चार कोविड-19 पॉजिटिव मामले आने के बाद ऑस्ट्रेलियाई ओपन के लिये पहुंचे खिलाड़ी कड़े पृथकवास पर है।अन्य खिलाड़ियों को अपने कमरे से निकलकर प्रत्येक दिन पांच घंटे अभ्यास की अनुमति होगी जबकि करीबी संपर्क वाले खिलाड़ियों के साथ ऐसा नहीं होगा और वे कमरों से बाहर नहीं निकल पायेंगे।

मेलबर्न।ऑस्ट्रेलियाई ओपन टेनिस टूर्नामेंट के लिये दो विशेष विमानों से यहां पहुंचे 47 खिलाड़ियों को कड़े पृथकवास पर भेज दिया गया है क्योंकि इन उड़ान में कोरोना वायरस के चार मामले पॉजीटिव पाये गये हैं। कुछ खिलाड़ी इस बात से भी नाराज थे कि उन्हें पॉजिटिव आये लोगों के साथ फ्लाइट में मौजूद होने की वजह से ही ‘करीबी संपर्क’ श्रेणी में रख दिया गया है जिससे उन्हें अन्य खिलाड़ियों की तुलना में सख्त पृथकवास में रहना होगा।

इसे भी पढ़ें: आस्ट्रेलिया मैच को लेकर थांगारासु नटराजन सहित इन गेंदबाजों की रोहित शर्मा ने तारीफ

अन्य खिलाड़ियों को अपने कमरे से निकलकर प्रत्येक दिन पांच घंटे अभ्यास की अनुमति होगी जबकि करीबी संपर्क वाले खिलाड़ियों के साथ ऐसा नहीं होगा और वे कमरों से बाहर नहीं निकल पायेंगे। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि सभी खिलाड़ियों को पहले ही जोखिम के बारे में चेतावनी दे दी गयी है। और इन नियमों को तोड़ने के संबंध में भी खिलाड़ियों को चेताया गया है। अगर पृथकवास के नियमों का उल्लंघन होता है तो उन्हें भारी जुर्माने के साथ और अधिक सुरक्षित पृथकवास परिसर में भेज दिया जायेगा जहां उनके होटल के कमरों के दरवाजों के बाहर पुलिस तैनात होगी। शनिवार को तीन पॉजिटिव मामलों की घोषणा की गयी थी और विक्टोरिया की कोविड-19 पृथकवास आयुक्त एम्मा कासार ने रविवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि इसमें एक चौथा पॉजिटिव मामला भी सामने आया है। अभी तक कोई भी खिलाड़ी पॉजिटिव नहीं मिला है। लास एंजिल्स की फ्लाइट में एक क्रू सदस्य, एक कोच और टीवी प्रसारण टीम के एक सदस्य को पॉजिटिव पाया गया। एक अन्य मामला अबुधाबी से पहुंची उड़ान में के एक कोच के पॉजिटिव आने का है। टूर्नामेंट के आयोजकों ने बताया कि लास एंजिल्स और अबुधाबी से यहां पहुंची उड़ान में ये मामले पाये गये हैं।

इसे भी पढ़ें: आस्ट्रेलियाई ओपन के लिये चार्टर्ड फ्लाइट में लॉस एजिलिस से आये दो लोग कोरोना पॉजिटिव

अधिकारियों ने कहा कि लास एंजिल्स से आये विशेष विमान में कोविड-19 के तीन मामले पाये गये। एक मामला अबुधाबी से यहां पहुंचे विमान में मिला। इन चारों को आस्ट्रेलिया की फ्लाइट लेने से पहले जांच में नेगेटिव पाया गया था। इन चारों को होटल में रखा गया है। कनाडा की स्टार खिलाड़ी बियांका आंद्रीस्कू के कोच सिल्वेन ब्रूनीयु ने कहा है कि उन्हें अबुधाबी से यहां पहुंचने पर कोविड-19 के लिये पॉजीटिव पाया गया। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी टीम के अन्य सदस्यों का परीक्षण परिणाम नेगेटिव आया है। ’’ दो बार की ओपन चैम्पियन विक्टोरिया अजारेंका और 2014 अमेरिकी ओपन के उप विजेता केई निशिकोरी लास एंजिल्स की फ्लाइट में थे। इससे पहले अधिकारियों ने कहा कि लास एंजिल्स से आने वाले सभी यात्रियों को 14 दिन तक होटल में कड़े पृथकवास पर भेज दिया गया है। टेनिस आस्ट्रेलिया ने पुष्टि की कि लास एंजिल्स से पहुंचे विमान में 24 और अबुधाबी से आये विमान में 23 खिलाड़ी थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




इस साल तोक्यो ओलंपिक होगा या नहीं? अब संयुक्त राष्ट्र लेगी फैसला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 17, 2021   10:47
  • Like
इस साल तोक्यो ओलंपिक होगा या नहीं? अब संयुक्त राष्ट्र लेगी फैसला

आईओसी के पूर्व उपाध्यक्ष ने कहा कि, संयुक्त राष्ट्र तोक्यो ओलंपिक के बारे में फैसला कर सकता है।आईओसी और स्थानीय आयोजकों ने कहा कि इस बार ओलंपिक खेल स्थगित नहीं किये जा सकते हैं। अगर इनका आयोजन नहीं हो पाता है तो फिर इन्हें रद्द कर दिया जाएगा।

सिडनी। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के पूर्व उपाध्यक्ष केविन गोस्पर का मानना है कि एक साल के लिये स्थगित किये गये तोक्यो ओलंपिक का भाग्य का फैसला करने में संयुक्त राष्ट्र अपनी भूमिका निभा सकता है। ओलंपिक खेलों का उद्घाटन 23 जुलाई को हाना है लेकिन तोक्यो, जापान और विश्व भर में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण इसके आयोजन को लेकर आशंकाएं व्यक्त की जा रही हैं। गोस्पर अब भी आईओसी के मानद सदस्य हैं और उन्होंने आस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय प्रसारक के साथ बातचीत में यह सुझाव दिया।

इसे भी पढ़ें: आस्ट्रेलिया मैच को लेकर थांगारासु नटराजन सहित इन गेंदबाजों की रोहित शर्मा ने तारीफ

उन्होंने एबीसी के एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘अगर आप यह पता करने के लिये तीसरे पक्ष के पास जाते हैं कि वैश्विक कोविड महामारी और उसके प्रभाव के कारण यह केवल खेल या राष्ट्रीय हित से जुड़ा मसला नहीं है तो तब यह मामला संयुक्त राष्ट्र के पास जा सकता है और खेलों के आयोजन का फैसला करने में उसे मध्यस्थ के रूप में शामिल किया जा सकता है। ’’ आईओसी और स्थानीय आयोजकों ने कहा कि इस बार ओलंपिक खेल स्थगित नहीं किये जा सकते हैं। अगर इनका आयोजन नहीं हो पाता है तो फिर इन्हें रद्द कर दिया जाएगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




फरवरी में आयोजित होगी ऑनलाइन स्पीड किकिंग चैम्पियनशिप

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 16, 2021   17:48
  • Like
फरवरी में आयोजित होगी ऑनलाइन स्पीड किकिंग चैम्पियनशिप

भारतीय ताइक्वांडो ने घोषणा की कि उसकी पहली स्पीड किकिंग चैम्पियनशिप वर्चुअली 14 से 18 फरवरी तक आयोजित की जायेगी।

मुंबई। भारतीय ताइक्वांडो ने घोषणा की कि उसकी पहली स्पीड किकिंग चैम्पियनशिप वर्चुअली 14 से 18 फरवरी तक आयोजित की जायेगी। टूर्नामेंट के प्रारूप के अनुसार एथलीट को एक मिनट के अंदर ज्यादा से ज्यादा ‘किक’ लगाने होंगे।

इसे भी पढ़ें: आस्ट्रेलिया मैच को लेकर थांगारासु नटराजन सहित इन गेंदबाजों की रोहित शर्मा ने तारीफ

मीडिया में जारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रतिभागियों को ऑनलाइन जजों द्वारा अंक दिये जायेंगे जो ‘किक’ की संख्या और पूर्ण प्रदर्शन के हिसाब से होंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept