राज्य में ‘सेंटर आफ एक्सीलैंस’ चाहता है महाराष्ट्र जिम्नास्टिक संघ, खेल मंत्री को लिखा पत्र

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 30, 2020   12:55
राज्य में ‘सेंटर आफ एक्सीलैंस’ चाहता है महाराष्ट्र जिम्नास्टिक संघ, खेल मंत्री को लिखा पत्र

महाराष्ट्र अमैच्योर जिम्नास्टिक संघ राज्य में ‘सेंटर आफ एक्सीलैंस’ चाहता है। संघ के सचिव मकरंद जोशी ने कहा ,‘‘ खेल मंत्रालय ने बड़ी स्पर्धाओं के लिये खिलाड़ियों को तैयार करने के मकसद से कई सेंटर आफ एक्सीलैंस बनाये हैं। महाराष्ट्र ने पिछले कुछ साल में जिम्नास्टिक में शानदार प्रदर्शन किया है।

औरंगाबाद। महाराष्ट्र अमैच्योर जिम्नास्टिक संघ ने यह कहकर खेल मंत्रालय से यहां राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र (सेंटर आफ एक्सीलैंस) बनाने का अनुरोध किया कि प्रदेश के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों में शानदार प्रदर्शन किया है। संघ के सचिव मकरंद जोशी ने कहा ,‘‘ खेल मंत्रालय ने बड़ी स्पर्धाओं के लिये खिलाड़ियों को तैयार करने के मकसद से कई सेंटर आफ एक्सीलैंस बनाये हैं। महाराष्ट्र ने पिछले कुछ साल में जिम्नास्टिक में शानदार प्रदर्शन किया है। चाहे स्कूली खेल हो, राष्ट्रीय खेल या खेलो इंडिया , महाराष्ट्र के जिम्नास्टर शीर्ष तीन में रहे हैं।’’

इसे भी पढ़ें: वेम्बले स्टेडियम में बिना दर्शकों के हुआ मैच, 82 लोगों की नौकरी खतरे में

उन्होंने कहा ,‘‘ यही कारण है कि हम सेंटर आफ एक्सीलैंड की मांग कर रहे हैं। हमने खेल मंत्री किरेन रीजीजू और भारतीय खेल प्राधिकरण को काफी पहले पत्र भी लिखा था लेकिन कोई जवाब नहीं आया।’’ औरंगाबाद में साइ के उप निदेशक वीरेंद्र भंडारकर ने कहा कि यहां सेंटर आफ एक्सीलैंड में छह खेल एथलेटिक्स, तीरंदाजी, तलवारबाजी, हॉकी, मुक्केबाजी और भारोत्तोलन शामिल हैं। उन्होंने कहा कि सरकार से एक या दो और खेलों को जोड़ने का अनुरोध किया गया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।