नासिक के इस साइक्लिस्ट ने श्रीनगर से कन्याकुमारी तक की दूरी तय करने का बनाया रिकॉर्ड

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 21, 2020   18:30
  • Like
नासिक के इस साइक्लिस्ट ने श्रीनगर से कन्याकुमारी तक की दूरी तय करने का बनाया रिकॉर्ड

नासिक के साइक्लिस्ट ओम ने कश्मीर से कन्याकुमारी तक दूरी सबसे तेज पूरी करने का रिकार्ड बनाया है।इस दौरान उन्होंने मध्य प्रदेश में भारी बारिश और दक्षिण में भीषण गर्मी का सामना किया। श्रीनगर से कन्याकुमारी तक सबसे तेज साइकिल चलाने का रिकार्ड उनके अंकल महेंद्र महाजन के नाम था।

मुंबई। नासिक के साइक्लिस्ट ओम महाजन ने साइकिल पर श्रीनगर से कन्याकुमारी तक की 3,600 किमी की दूरी शनिवार दोपहर आठ दिन सात घंटे 38 मिनट में पूरी कर रिकार्ड बनाया। अगले महीने 18 वर्ष के होने वाले ओम ने कन्याकुमारी पहुंचने के बाद पीटीआई से बात करते हुए कहा, ‘‘मैं हमेशा साइक्लिंग करना चाहता था। लॉकडाउन शुरू होने के बाद मैंने ‘एंड्योरेंस साइक्लिंग’ और आरएएएम (अमेरिका में रेस) में हिस्सा लेने का सपना देखना शुरू किया। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘छह महीने पहले, मैंने आरएएएम के लिये क्वालीफायर की ट्रेनिंग शुरू की जो नवंबर में होनी थी। ’’ लेकिन 600 किलोमीटर क्वालीफायर के बजाय ओम ने ‘रेस एक्रोस इंडिया’ (भारत में रेस) करने का फैसला किया। उन्होंने पिछले हफ्ते श्रीनगर की ठंडी रात से शुरूआत करते हुए कन्याकुमारी तक का सफर पूरा किया।

इसे भी पढ़ें: खेल सचिव रवि मित्तल ने कहा, सरकार जनवरी में लांच करेगी फिटनेस एप

इस दौरान उन्होंने मध्य प्रदेश में भारी बारिश और दक्षिण में भीषण गर्मी का सामना किया। श्रीनगर से कन्याकुमारी तक सबसे तेज साइकिल चलाने का रिकार्ड उनके अंकल महेंद्र महाजन के नाम था। लेकिन हाल में भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट कर्नल भरत पन्नू ने इस दूरी को आठ दिन नौ घंटे में पूरी कर इस रिकार्ड को तोड़ दिया था। हालांकि इसे गिनिज बुक में शामिल करना बाकी था। लेकिन ओम महाजन ने पन्नू के रिकार्ड पर नजरें लगायी और इसे तोड़ दिया। लेफ्टिनेंट कर्नल पन्नू 17 साल के ओम को सोशल मीडिया पर बधाई देने में सबसे आगे रहे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept