फुटबॉल फैंस के लिए खुशखबरी! 17 जून से शुरू होगी प्रीमियर लीग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 29, 2020   10:12
फुटबॉल फैंस के लिए खुशखबरी! 17 जून से शुरू होगी प्रीमियर लीग

कोविड-19 के कारण लिवरपूल का इंतजार बढ़ा लेकिन हर किसी को विश्वास है कि चैंपियन वही बनेगा। लिवरपूल की दो जीत से मैनचेस्टर सिटी के लिये उस तक पहुंचना मुश्किल हो जाएगा। लिवरपूल अपना पहला मैच जीतने और सिटी के हारने की स्थिति में भी चैंपियन बन जाएगा।

लंदन। कोरोना वायरस के कारण तीन महीने तक ठप्प रहने के बाद प्रीमियर लीग फुटबाल की 17 जून को वापसी होना तय है जिससे लिवरपूल के चैंपियन बनने का रास्ता साफ होगा और साथ ही यूरोपीय चैंपियनशिप में खेलने वाली टीमों का भी निर्धारण हो जाएगा। लिवरपूल का 30 वर्ष में पहली बार चैंपियन बनना तय है, लेकिन जब खाली स्टेडियमों में मैच होंगे तो कई अन्य मसले भी सुलझ जाएंगे जिनमें दूसरी श्रेणी में जाने वाली टीमों और अगले साल यूरोपीय चैंपियनशिप में जगह बनाने वाली टीमों का निर्धारण भी शामिल है। मार्च में जब लीग निलंबित की गयी थी तब लिवरपूल अपने करीबी प्रतिद्वंद्वी मैनचेस्टर सिटी से 25 अंक आगे था और दो मैचों में जीत से वह 1990 के बाद पहली बार इंग्लिश प्रीमियर लीग का चैंपियन बन जाएगा।

इसे भी पढ़ें: पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट प्रमुख ने भारतीय सीरीज की मेजबानी नहीं मिलने पर CA पर निशाना साधा

कोविड-19 के कारण लिवरपूल का इंतजार बढ़ा लेकिन हर किसी को विश्वास है कि चैंपियन वही बनेगा। लिवरपूल की दो जीत से मैनचेस्टर सिटी के लिये उस तक पहुंचना मुश्किल हो जाएगा। लिवरपूल अपना पहला मैच जीतने और सिटी के हारने की स्थिति में भी चैंपियन बन जाएगा। यही नहीं जर्गेन क्लॉप की लिवरपूल की टीम सिटी के दो रिकार्ड भी तोड़ सकती है। वह अगर अब संभावित 27 अंकों में से 19 अंक हासिल कर लेती है तो वह मैनचेस्टर सिटी के 2017-18 के 100 अंकों के रिकार्ड को तोड़ देगी। यही नहीं वह सिटी के उसी सत्र में 19 अंकों से जीत दर्ज करने के रिकार्ड को भी ध्वस्त कर सकती है।

इसे भी पढ़ें: IOA कोषाध्यक्ष ने नरिंदर बत्रा के कदम को ‘संविधान का उल्लंघन’ करार दिया

लिवरपूल के कप्तान जोर्डन हेंडरसन ने पिछले साल खचाखच भरे स्टेडियम में चैंपियन्स लीग की ट्राफी उठायी थी लेकिन इस साल वह अलग तरह के अनुभव के लिये तैयार हैं। उन्होंने बीबीसी से कहा, ‘‘निश्चित तौर पर एक अलग तरह का अनुभव होगा क्योंकि अगर आप प्रशंसकों की अनुपस्थिति में ट्राफी उठाते हो तो काफी अजीब लगेगा। ’’ जहां तक चैंपियन्स लीग में जगह बनाने की बात है तो लिवरपूल में इसमें अपना स्थान सुनिश्चित कर चुका है। उसके बाद मैनचेस्टर सिटी, लीसेस्टर और चेल्सी अगले तीन स्थानों पर है। लेकिन सिटी यूरोप के क्लबों की शीर्ष प्रतियोगिता में अगले दो सत्र तक भाग नहीं ले सकता क्योंकि उस पर वित्तीय फेयरप्ले उल्लंघन के लिये प्रतिबंध लगा है। सिटी ने अपील कर रखी है और अगर फैसला उसके पक्ष में जाता है तो वह इसमें भाग लेने का हकदार बन जाएगा। अगर वर्तमान फैसला बरकरार रखा जाता है तो जो भी टीम पांचवें स्थान पर रहेगी वह अगले साल चैंपियन्स लीग में जगह बनाएगी। अभी मैनचेस्टर यूनाईटेड पांचवें स्थान पर है लेकिन वॉल्व्स और शैफील्ड यूनाईटेड उससे केवल दो अंक पीछे हैं। आठवें और नौवें स्थान पर काबिज टॉटेनहैम और आर्सनल के पास भी पांचवें स्थान पर पहुंचने का मौका रहेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।