पुजारा और कोहली हैं दोनों टीमों के बीच मुख्य अंतर: जस्टिन लैंगर

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Dec 31 2018 5:55PM
पुजारा और कोहली हैं दोनों टीमों के बीच मुख्य अंतर: जस्टिन लैंगर
Image Source: Google

लैंगर ने कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो इस चरण में श्रृंखला में मुख्य अंतर पुजारा और कोहली ने पैदा किया है। पुजारा ने 53 रन प्रति पारी और कोहली ने 46 रन प्रति पारी की औसत से रन बनाये हैं जबकि दूसरी पारी में दोनों खाता भी नहीं खोल पाये थे। इससे हमें यह सबक मिलता है कि हमने जो भी दबाव बनाया उन्होंने उसे खत्म किया।’’

मेलबर्न। आस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर ने अपनी टीम में विश्वस्तरीय बल्लेबाज नहीं होने पर खेद जताया और कहा कि भारत की तरफ से विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा ने चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में मुख्य अंतर पैदा किया। भारत ने एमसीजी पर तीसरा टेस्ट मैच 131 रन से जीतकर श्रृंखला में 2-1 से अजेय बढ़त बनायी। चौथा और अंतिम टेस्ट मैच गुरुवार से सिडनी में शुरू होगा। लैंगर ने सोमवार को कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो इस चरण में श्रृंखला में मुख्य अंतर पुजारा और कोहली ने पैदा किया है। पुजारा ने 53 रन प्रति पारी और कोहली ने 46 रन प्रति पारी की औसत से रन बनाये हैं जबकि दूसरी पारी में दोनों खाता भी नहीं खोल पाये थे। इससे हमें यह सबक मिलता है कि हमने जो भी दबाव बनाया उन्होंने उसे खत्म किया।’’ 
भाजपा को जिताए
 
 


उन्होंने कहा, ‘‘यह बल्लेबाजी की कला है, सही है ना। यह दबाव झेलने से जुड़ा हुआ है। आपको टेस्ट क्रिकेट में इतना अधिक समय मिलता है और मुझे लगता है कि आज (टी20) के जमाने में सब कुछ इतना तेजी से हो रहा है कि हम स्ट्राइक रेट पर बात करते हैं। हमारे खिलाड़ी यह सीख रहे हैं और उम्मीद है कि उन्होंने वे यह सबक सीख रहे होंगे। अगर उन्होंने यह सीख नहीं ली है तो हमारा जैसा प्रदर्शन है आगे भी वैसा ही रहेगा।’’ लैंगर ने पहली पारी में लचर प्रदर्शन के लिये अपने बल्लेबाजों को लताड़ा। आस्ट्रेलियाई टीम 151 रन पर आउट हो गयी। उन्होंने कहा, ‘‘यह वास्तव में कड़ा टेस्ट मैच था। मैंने पहले दिन से कहा था कि यह टेस्ट श्रृंखला बेहद कड़ी होने जा रही है और ऐसा हो रहा है। हमें इस टेस्ट मैच में सबसे खराब परिस्थितियों का सामना करना पड़ा और हमारी पहली पारी की बल्लेबाजी अच्छी नहीं रही। हम निराश और हताश हैं लेकिन चौथे मैच के लिये तरोताजा और तैयार हो रहे हैं।’’ मेलबर्न में मिली हार से आस्ट्रेलिया के पुराने जख्म ताजा हो गये हैं। उसकी टीम प्रतिबंधित डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ की अनुपस्थिति में संघर्ष कर रही है। उसके शीर्ष क्रम में आरोन फिंच तथा मध्यक्रम में पीटर हैंड्सकांब और मिशेल मार्श नहीं चल पाये हैं।
 
 
लैंगर ने कहा, ‘‘उसने (फिंच) भले ही दो अर्धशतकीय पारियां खेली लेकिन वह इस समय खराब दौर से गुजर रहा है। उसने एक टेस्ट मैच में शतकीय साझेदारी निभायी और इससे हमारी जीत की नींव पड़ी। फिंच वास्तव में अच्छा खिलाड़ी है और वह कड़ी मेहनत कर रहा है। खुद को फिर से फार्म में लाना उसके लिये अभी सबसे बड़ी चुनौती है और मुझे लगता है कि अगली बार वह बेहतर प्रदर्शन करेगा।’’ लेग स्पिन आलराउंडर मार्कस लाबुशेन को को सिडनी टेस्ट के लिये आस्ट्रेलियाई टीम में शामिल किया गया है। लैंगर ने कहा कि उनके गेंदबाजी आक्रमण को स्वदेश में खेलने का फायदा मिलना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे वाका में खेलना पसंद है और मुझे एडिलेड ओवल में खेलना पसंद है जिनमें थोड़ी तेजी और उछाल होती है। हम जब भी भारत दौरे पर गये तब हमें उछाल वाले अधिक विकेट नहीं मिले और अमूमन हमें स्पिन पिचों पर खेलना पड़ा। इसलिए हमें भी अपने यहां सर्वश्रेष्ठ विकेट तैयार करने चाहिए।’’ लैंगर ने कहा, ‘‘देखते हैं कि सिडनी में अगले सप्ताह हमें कैसा विकेट मिलता है। हमें अभी पक्के तौर पर कुछ भी पता नहीं है। भारत ने वहां अभ्यास मैच खेला था और विकेट काफी सपाट था। कुछ सप्ताह पहले शैफील्ड शील्ड मैच में भी विकेट सपाट था। हमें उम्मीद है कि टेस्ट के लिये ऐसा नहीं होगा। मेलबर्न में आखिरी दो दिन हम मुकाबले में थे क्योंकि विकेट की प्रकृति बदल गयी थी और सभी अच्छा मुकाबला देखना चाहते हैं।’’


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story