राष्ट्रीय खेलों में निशानेबाजी में नयी प्रतिभाएं सामनें आयेंगी: राणा

Jaspal Rana
प्रतिरूप फोटो
Olympics.com
द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता कोच जसपाल राणा को उम्मीद है कि 36वें राष्ट्रीय खेलों में दिग्गज निशानेबाजों के साथ युवाओं को प्रतिस्पर्धा करने के मौके से इस खेल में नयी प्रतिभाएं उभर कर सामने आयेंगी। इन खेलों का आयोजन गुजरात में 29 सितंबर से 12 अक्टूबर तक होगा।

द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता कोच जसपाल राणा को उम्मीद है कि 36वें राष्ट्रीय खेलों में दिग्गज निशानेबाजों के साथ युवाओं को प्रतिस्पर्धा करने के मौके से इस खेल में नयी प्रतिभाएं उभर कर सामने आयेंगी। इन खेलों का आयोजन गुजरात में 29 सितंबर से 12 अक्टूबर तक होगा। एशियाई खेलों में कई बार स्वर्ण पदक जीतने वाले इस पूर्व निशानेबाज ने कहा, ‘‘ हर किसी को राष्ट्रीय स्तर के प्रतियोगिताओं और फिर देश के लिए प्रतिस्पर्धा करने का मौका नहीं मिलता। लेकिन यहां पर आप कौशल तथा प्रतिभा परख सकते हैं।

राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं से भी नयी प्रतिभा निकल सकती हैं। मुझे यकीन है कि राष्ट्रीय खेलों के अंत तक हम कुछ नए चेहरे दिखेंगे, जो भविष्य में भारत के लिए अच्छा प्रदर्शन करेंगे।’’ राणा ने जूनियर राष्ट्रीय टीम के साथ काम करते हुए मनु भाकर, सौरभ चौधरी और अनीश भानवाला सहित कई युवाओं के करियर को संवारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। जूनियर विश्व चैम्पियनशिप 1994 में अपनी पहली बड़ी जीत दर्ज करने के बाद राणा ने उसी साल हिरोशिमा एशियाई खेलों में दमदार प्रदर्शन किया था।

राणा को लगता है कि राष्ट्रीय खेल सभी प्रतिभागियों को खुद को साबित करने का अच्छा मौका मिलेगा। उन्होंने कहा, ‘‘ हांगझोऊ में होने वाले एशियाई खेल स्थगित हो गये है। ऐसे में हमारे सभी खिलाड़ियों के पास एक साथ गुजरात में अपने कौशल का प्रदर्शन करने का एक शानदार अवसर है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह सिर्फ निशानेबाजी के बारे में नहीं है। राष्ट्रीय खेलों में कई अलग-अलग खेल हैं और अगर देश के शीर्ष खिलाड़ियों को कम अनुभवी खिलाड़ी कड़ी टक्कर दे पायेंगे तो यह बहुत अच्छा होगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़