हिटमैन रोहित शर्मा नहीं बनना चाहते थे बल्लेबाज, इस घटनाक्रम के बाद बदली किस्मत

rohit-sharma-birthday-specialcareer-records
अनुराग गुप्ता । Apr 30, 2019 11:53AM
23 जून 2007 को बेलफास्ट में आयरलैंड के खिलाफ एक दिवसीय मुकाबले में डेब्यू करने वाले रोहित शर्मा ने 206 मुकाबलों में 22 शतक और 41 अर्धशतक के दम पर 8010 रन बनाए।

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के उपकप्तान और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा आज अपना 32वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस दौरान बीसीसीआई ने हिटमैन रोहित शर्मा के दोहरे शतक का वीडियो ट्विटर पर पोस्ट करके उन्हें बधाई दी। वहीं, आईसीसी ने ट्विटर पर वीडियो के साथ पोल साझा किया और दर्शकों से पूछा कि क्या रोहित शर्मा एकदिवसीय मुकाबले में तिहरा शतक जड़ सकते हैं। एकदिवसीय मुकाबले में तीन दोहरा शतक लगाने वाले रोहित शर्मा का जन्म 30 अप्रैल 1987 को महाराष्ट्र के नागपुर जिले के बंसोड में हुआ था। आज रोहित शर्मा को खिलाड़ियों के साथ-साथ देशभर के दर्शकों की बधाईयां मिल रही हैं। 

इसे भी पढ़ें: CSK की टीम में धोनी का ना होना हमारे लिए फायदेमंद रहा: रोहित शर्मा

भारतीय खिलाड़ियों द्वारा जड़े गए दोहरे शतक थे खास

सबसे पहले गॉड ऑफ क्रिकेट कहे जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एकदिवसीय मुकाबले में दोहरा शतक जड़कर रिकॉर्ड बनाया था। सचिन ने रिकॉर्ड बनाया ही था कि विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने उसे तोड़ते हुए 219 रन की शानदार पारी खेली। हालांकि, अब दोहरे शतक के तमाम रिकॉर्ड रोहित शर्मा ने तोड़ दिए हैं। रोहित ने दोहरे शतक को इतना आम बना दिया कि उन्होंने एक के बाद एक तीन दोहरे शतक जड़ दिए। उन्होंने सबसे पहले साल 2009 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बेंगलुरू में 209 रनों की पारी खेली। उसके बाद साल 2014 में श्रीलंका के खिलाफ रोहित ने ईडन गार्डन में एकदिवसीय मुकाबले का सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर (264 रन) बना डाला और तीसरा दोहरा शतक रोहित ने मोहाली में एक बार फिर श्रीलंका के खिलाफ जड़ा। इस बार वह महज 208 रन ही बना पाए।

इसे भी पढ़ें: कोलकाता नाइटराइडर्स से उसके घर में भिड़ेगी मुंबई इंडियंस

23 जून 2007 को बेलफास्ट में आयरलैंड के खिलाफ एक दिवसीय मुकाबले में डेब्यू करने वाले रोहित शर्मा ने 206 मुकाबलों में 22 शतक और 41 अर्धशतक के दम पर 8010 रन बनाए। एक वक्त था जब रोहित शर्मा बोलिंग में अपना करियर बनाना चाहते थे लेकिन साल 2005 में हुई घटना के बाद उनकी किस्मत ही बदल गई। विशेषज्ञ बताते है कि साल 2005 में श्रीलंका की जूनियर टीम भारत के दौरे पर आई थी। इस दौरान रोहित शर्मा एकदिवसीय मुकाबले में गेंदबाजी कर रहे थे, तभी रोहित के दाहिने हाथ की उंगली अचानक टूट गई। इस घटनाक्रम की वजह से रोहित का बोलिंग करियर लगभग समाप्त हो गया। जिसके बाद उन्होंने बल्लेबाजी की तरफ अपना ध्यान लगाया और आज रोहित शर्मा के तमाम रिकॉर्ड आपके सामने हैं।

अन्य न्यूज़