• Tokyo Olympic Highlights Day 9: कमलप्रीत कौर ने जगाई पदक की उम्मीद, क्वार्टर फाइनल में पहुंची महिला हॉकी टीम

भारतीय महिला हॉकी टीम ने दक्षिण अफ्रीका पर 4-3 की जीत और बाद में मौजूदा चैंपियन ग्रेट ब्रिटेन की आयरलैंड पर 2-0 की विजय से शनिवार को यहां 41 वर्षों में पहली बार ओलंपिक खेलों के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

टोक्यो। टोक्यो ओलंपिक 2020 के नौवा दिन भारत के लिए शानदार रहा। आज के दिन भारतीय महिला हॉकी टीम के पदक जीतने की उम्मीद वापस लौटी। भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया लेकिन क्वार्टर फाइनल में प्रवेश के लिए आयरलैंड का ब्रिटेन के खिलाफ मैच हारना जरूरी था और ऐसा ही हुआ। जबकि दूसरी तरफ पीवी सिंधु को निराशा हाथ लगी।

कमलप्रीत कौर ने फाइनल में बनाई जगह

भारत की कमलप्रीत कौर ने तोक्यो ओलंपिक में महिलाओं की चक्काफेंक स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश किया। 25 वर्ष की कमलप्रीत ने अपने तीसरे प्रयास में 64 मीटर का थ्रो फेंका जो क्वालीफिकेशन मार्क भी था। क्वालीफिकेशन में शीर्ष रहने वाली अमेरिका की वालारी आलमैन के अलावा वह 64 मीटर या अधिक का थ्रो लगाने वाली अकेली खिलाड़ी रहीं।   

तीरंदाजी में मेडल का सपना टूटा 

ओलंपिक की तीरंदाजी स्पर्धा में भारत की चुनौती पदक के बिना ही समाप्त हो गई जब अतनु दास पुरूषों के व्यक्तिगत वर्ग के प्री क्वार्टर फाइनल में जापान के ताकाहारू फुरूकावा से 4-6 से हार गए। दास पांचवें सेट में एक बार भी 10 स्कोर नहीं कर सके और आठ का स्कोर उन पर भारी पड़ा। दुनिया की नंबर एक तीरंदाज दीपिका कुमारी के क्वार्टर फाइनल में हारने के बाद भारत की उम्मीदें दास पर ही टिकी थी।  

चक्काफेंक खिलाड़ी सीमा पूनिया ग्रुप ए में छठे स्थान पर रही

चक्काफेंक खिलाड़ी कमलप्रीत कौर ने ओलंपिक में भारत के लिये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में से एक करते हुए तोक्यो क्वालीफिकेशन दौर में दूसरे स्थान पर रहकर फाइनल में जगह बना ली जबकि अनुभवी सीमा पूनिया चूक गईं। 25 वर्ष की कमलप्रीत ने अपने तीसरे प्रयास में 64 मीटर का थ्रो फेंका जो क्वालीफिकेशन मार्क भी था। क्वालीफिकेशन में शीर्ष रहने वाली अमेरिका की वालारी आलमैन के अलावा वह 64 मीटर या अधिक का थ्रो लगाने वाली अकेली खिलाड़ी रहीं।  

भारतीय गोल्फर दीक्षा डागर को ओलंपिक में खेलने का मिला मौका

भारतीय गोल्फर दीक्षा डागर ऐन मौके पर ओलंपिक में खेलने का मौका मिलने के बाद शनिवार को तोक्यो रवाना हो गई। महिलाओं की गोल्फ स्पर्धा चार अगस्त से शुरू होगी।

निशानेबाजों ने किया निराश

भारतीय निशानेबाज अंजुम मोदगिल और तेजस्विनी सावंत शनिवार को यहां ओलंपिक में महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में क्रमश: 15वें और 33वें स्थान के साथ फाइनल्स में जगह बनाने में नाकाम रहीं।   ओलंपिक से पहले शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय निशानेबाजी टीम का यहां खराब प्रदर्शन जारी है जहां सौरभ चौधरी को छोड़कर किसी भी प्रतिभागी ने फाइनल्स के लिए क्वालीफाई नहीं किया। 

पूजा रानी क्वार्टर फाइनल में हारी

भारतीय मुक्केबाजी के लिये शनिवार का दिन निराशाजनक रहा जिसमें दुनिया के नंबर एक मुक्केबाज अमित पंघाल (52 किग्रा) के बाद पूजा रानी (75 किग्रा) भी अपनी प्रतिद्वंद्वी से हारकर तोक्यो ओलंपिक से बाहर हो गयीं। भारत की पदक उम्मीद मुक्केबाज पंघाल प्री क्वार्टर फाइनल में सुबह रियो ओलंपिक के रजत पदक विजेता कोलंबिया के युबेरजेन मार्तिनेज से 1-4 से हार गये।  

सिंधू का स्वर्ण पदक जीतने का सपना टूटा

भारतीय बैडमिंटन स्टार पी वी सिंधू का महिला एकल के सेमीफाइनल में शनिवार को यहां विश्व की नंबर एक ताइ जु यिंग के हाथों सीधे गेम में हार के साथ ही तोक्यो ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने का सपना टूट गया।  

महिला हॉकी टीम क्वार्टर फाइनल में पहुंची

स्ट्राइकर वंदना कटारिया की ऐतिहासिक हैट्रिक के दम पर भारत ने ‘करो या मरो’ के मुकाबले में निचली रैंकिंग वाली दक्षिण अफ्रीका टीम को 4-3 से हराकर तोक्यो ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश की उम्मीदों को बरकरार रखा था। इसके बाद भारत की नजर आयरलैंड और ब्रिटेन के मुकाबले पर थी। भारत को क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के लिए ब्रिटेन का जीतना जरूरी था। ऐसे में ब्रिटेन ने आयरलैंड को 2-0 से हरा दिया। जिसकी बदौलत भारत क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई।

ओलंपिक में भारत का 1 अगस्त का कार्यक्रम

गोल्फ: अनिर्बान लाहिड़ी और उदयन माने, पुरुषों का व्यक्तिगत स्ट्रोक प्ले , सुबह 4:15 बजे से

बैडमिंटन: महिला एकल कांस्य पदक मुकाबला पीवी सिंधूबनाम ही बिंग जियाओ (चीन), शाम पांच बजे

मुक्केबाजी: पुरुष 91 किग्रा से अधिक भार वर्ग, सतीश कुमार, सुबह 9:36 बजे।