शीर्ष पदक विजेता पहलवानों ने WFI के खिलाफ खोला मोर्चा, Bajrang Punia-Sakshi Malik ने कहा संघ गुलामों जैसा व्यवहार नहीं कर सकता

wrestlers protest
ANI Image
रितिका कमठान । Jan 18, 2023 2:54PM
भारत के कई पदक विजेता और दिग्गज पहलवानों ने भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण शरण के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पहलवानों का कहना है कि संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण तानाशाही रवैया अपनाते हैं जिसके खिलाफ पहलवानों को प्रदर्शन करने जंतर मंतर पर पहुंचना पड़ा।

टोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता बजरंग पूनिया और विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता विनेश फोगाट समेत देश के शीर्ष पहलवान भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ जंतर मंतर पर धरने पर बैठे हैं। सभी खिलाड़ियों ने एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए 18 जनवरी को जंतर मंतर का रुख किया और फेडरेशन के खिलाफ आवाज बुलंद की।

पहलवानों ने ट्विटर पर अपनी मांगों को रखा है। बजरंग पुनिया ने ट्विट किया कि खिलाड़ी पूरी मेहनत कर देश को मेडल दिलाता है लेकिन फेडरेशन ने हमें नीचा दिखाने के अलावा कुछ नहीं किया है। मनचाहे कानून लगाकर खिलाड़ियों को प्रताड़ित किया जा रहा है। फेडरेशन का काम खिलाड़ियों का साथ देना, उनकी खेल की जरुरतों का ध्यान रखना होता है। कोई समस्या हो तो उसका निदान करना होता है। अगर फेडरेशन ही समस्या खड़ी करे तो क्या किया जाए? अब लड़ना होगा, हम पीछे नहीं हटेंगे।

बजरंग, विनेश, रियो ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक, विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता सरिता मोर, संगीता फोगाट, सत्यव्रत मलिक, जितेंद्र किन्हा और राष्ट्रमंडल खेल पदक विजेता सुमित मलिक जंतर मंतर पर धरने पर बैठे 30 पहलवानों में हैं। बजरंग ने कहा कि हमारी लड़ाई सरकार या भारतीय खेल प्राधिकरण के खिलाफ नहीं है। हम डब्ल्यूएफआई के खिलाफ है। हम आज इसका ब्यौरा देंगे। ये तो अब आर पार की लड़ाई है। बजरंग का सहयोगी स्टाफ भी धरने पर बैठा है जिसमें उनके कोच सुजीत मान और फिजियो आनंद दुबे शामिल हैं। एक अन्य पहलवान ने कहा कि तानाशाही नहीं चलेगी।

वहीं विनेश फोगाट ने ट्वीट किया कि खिलाड़ी आत्मसम्मान चाहता है और पूरी शिद्दत के साथ ओलंपिक और बड़े खेलो के लिए तैयारी करता है लेकिन अगर फेडरेशन उसका साथ ना दे मनोबल टूट जाता है।लेकिन अब हम नही झुकेंगे।अपने अधिकारों के लिए लड़ेंगे। 

बता दें कि भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह 2011 से डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष हैं और फरवरी 2019 में लगातार तीसरी बार चुने गए। अंशु मलिक, संगीता फोगाट और अन्य पहलवानों ने भी हैशटैग बायकॉट डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष ट्वीट करके पीएमओ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को टैग किया है।

महासंघ के सहायक सचिव ने की प्रदर्शनकारी पहलवानों से मुलाकात
महासंघ के खिलाफ पहलवानों के प्रदर्शन के बाद भारतीय कुश्ती महासंघ के सहायक सचिव विनोद तोमर प्रदर्शनकारी पहलवानों से मिलने पहुंचे। उन्होंने कहा कि एक बार जब वे फेडरेशन में आ जाएंगे तो सारे मसले सुलझकर सुलझ जाएंगे। उन्होंने मुझे अभी तक नहीं बताया कि मामला क्या है। मेरे या फेडरेशन के साथ अब तक ऐसा कोई मुद्दा नहीं उठाया गया है। उन्होंने कहा कि पता नहीं यह किस बारे में है। डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष को लिखे पत्र से पता चला कि कुछ पहलवान विरोध में बैठे हैं।

अन्य न्यूज़