ऊषा महिला 87 किग्रा में पदक जीतने में नाकाम, छठे स्थान पर रहीं

Usha Bannur
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
भारतीय भारोत्तोलक ऊषा बानुर मंगलवार को यहां राष्ट्रमंडल खेलों की महिला 87 किग्रा स्पर्धा में निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए छठे स्थान पर रहीं। ऊषा ने स्नैच में काफी कम वजन उठाया जबकि क्लीन एवं जर्क में उनका एक ही प्रयास वैध रहा जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। ऊषा कुल 205 किग्रा (95 किग्रा और 110 किग्रा) वजन ही उठा पाईं

बर्मिंघम, 3 अगस्त। भारतीय भारोत्तोलक ऊषा बानुर मंगलवार को यहां राष्ट्रमंडल खेलों की महिला 87 किग्रा स्पर्धा में निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए छठे स्थान पर रहीं। ऊषा ने स्नैच में काफी कम वजन उठाया जबकि क्लीन एवं जर्क में उनका एक ही प्रयास वैध रहा जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। ऊषा कुल 205 किग्रा (95 किग्रा और 110 किग्रा) वजन ही उठा पाईं। इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक आस्ट्रेलिया की एलीन सिकामाताना ने रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन करते हुए कुल 255 किग्रा (110 किग्रा और 145 किग्रा) वजन उठाकर जीता।

उन्होंने स्नैच, क्लीन एवं जर्क और कुल भार तीनों वर्ग में नया राष्ट्रमंडल रिकॉर्ड बनाया। कनाडा की क्रिस्टल एनगारलेम कुल 236 किग्रा (101 किग्रा और 135 किग्रा) वजन उठाकर दूसरे जबकि नाइजीरिया की मैरी ताइवो ओसिजो कुल 225 किग्रा (102 किग्रा और 123 किग्रा) वजन उठाकर तीसरे स्थान पर रहीं। ऊषा की शुरुआत निराशजनक रही। उन्होंने स्नैच में 90 किग्रा वजन उठाकर शुरुआत की जबकि अपने अगले प्रयास में 95 किग्रा वजन उठाने में सफल रही।

भारतीय भारोत्तोलक ने अपने तीसरे और अंतिम प्रयास में 98 किग्रा वजन उठाने की कोशिश की लेकिन नाकाम रही। ऊष स्नैच वर्ग के बाद पांचवें स्थान पर चल रही थी। ऊषा ने क्लीन एवं जर्क में अपने पहले प्रयास में आसानी से 110 किग्रा वजन उठाया लेकिन अगले दो प्रयास में 116 किग्रा वजन उठाने में नाकाम रहीं जिससे पदक की दौड़ से बाहर हो गईं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़