साइना नेहवाल विश्व चैंपियनशिप के प्री क्वार्टर में, गायत्री-त्रीसा की जोड़ी ने भी किया कमाल

saina nehwal
Common creative
विश्व चैंपियनशिप में साइना ने पहले दौर के इस मैच में नगन यी को 38 मिनट में 21-19, 21-9 से पराजित किया। विश्व चैंपियनशिप में रजत और कांस्य पदक जीत चुकी यह 32 वर्षीय खिलाड़ी प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है। इससे साइना को ‘बाई’ मिल गई।

तोक्यो। लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल ने मंगलवार को यहां हांगकांग की चेउंग नगन यी पर सीधे गेम में जीत दर्ज करके बीडब्ल्यूएफ विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में अपने अभियान की शानदार शुरुआत की। साइना ने पहले दौर के इस मैच में नगन यी को 38 मिनट में 21-19, 21-9 से पराजित किया। विश्व चैंपियनशिप में रजत और कांस्य पदक जीत चुकी यह 32 वर्षीय खिलाड़ी प्री क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई है क्योंकि दूसरे दौर की उनकी प्रतिद्वंदी नाजोमी ओकुहारा चोटिल होने के कारण टूर्नामेंट से हट गई हैं। इससे साइना को ‘बाई’ मिल गई। त्रीसा जॉली और गायत्री गोपीचंद की भारतीय महिला युगल जोड़ी ने भी जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत की। भारतीय जोड़ी को मलेशिया की येन युआन लो और वेलेरी सियो को 21-11 21-13 से हराने में खास मशक्कत नहीं करनी पड़ी।

इसे भी पढ़ें: चैम्पियंस लीग फुटबॉल में बेंफिका ने डायनामो कीव को हराया, ग्रुप चरण में पहुंचने का टूटा सपना

अश्विनी भट और शिखा गौतम की महिला जोड़ी ने भी इटली की मार्टिना कोर्सिनी और जुडिथ मैयर को 30 मिनट में 21-8, 21-14 से हराकर दूसरे दौर में प्रवेश किया। साइना ने सिंगापुर ओपन में चीन की ही बिंगजियाओ पर जीत के दौरान अपनी फॉर्म हासिल करने के संकेत दिए थे। हैदराबाद की इस खिलाड़ी ने मंगलवार को भी अपने जज्बे का शानदार नमूना पेश किया। उन्होंने नगन यी के खिलाफ पहले गेम में 4-7 से पिछड़ने के बाद 12-11 से बढ़त हासिल की। साइना को एक-एक अंक के लिए कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा लेकिन उन्होंने अपनी बढ़त कायम रखी। इसके बाद स्कोर 19-19 पर बराबरी पर पहुंच गया। भारतीय खिलाड़ी ने हालांकि इसके बाद लगातार दो अंक बनाकर पहला गेम अपने नाम किया। साइना ने दूसरे गेम में अधिक आक्रामक रवैया अपनाया और इस बीच नगन यी भी संघर्ष करती नजर आई।

इसे भी पढ़ें: वेस्टइंडीज में 3-0 से सीरीज जीत के बाद भारत ICC ODI रैंकिंग में तीसरे स्थान पर बरकरार

साइना ने इंटरवल तक 11-6 से बढ़त हासिल कर रखी थी। इसके बाद भी उन्होंने अपनी बढ़त बरकरार रखकर यह गेम और मैच जीता। इस बीच वेंकट गौरव प्रसाद और जूही देवगन की मिश्रित युगल जोड़ी को हार का सामना करना पड़ा। यह भारतीय जोड़ी इंग्लैंड के ग्रेगरी मायर्स और जेनी मूर से 10-21, 21-23 से हार गई। कृष्ण प्रसाद गरागा और विष्णुवर्धन गौड़ पंजाला की पुरुष युगल जोड़ी भी फ्रांस के फैबियन डेलरू और विलियम विलेगर से 14-21, 18-21 से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई। तनीषा क्रास्टो और ईशान भटनागर भी मिश्रित युगल में थाईलैंड के सुपक जोमकोह और सुपिसारा पावसमप्रान की 14वीं वरीयता प्राप्त जोड़ी से 14-21, 17-21 से हार गए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़