• इनकम टैक्स की नई वेबसाइट में हैं तमाम सुविधाएं, जरूर जानें

नए पोर्टल में आईटीआर के प्रोसेस होने में पुराने सिस्टम की तरह बहुत ज्यादा समय नहीं लगेगा, और ऐसे में यह प्रक्रिया टैक्सपेयर को रिफंड की सुविधाएं तुरंत दे सकेगी। बेहद यूजर फ्रेंडली इस वेबसाइट में आइटीआर फाइल करना, उसे रिव्यू करना एवं संबंधित एक्शन लेना काफी ईजी होने वाला है।

बहुप्रतीक्षित इनकम टैक्स की वेबसाइट का नया वर्जन ई फाइलिंग 2.0 पोर्टल (e-Filing 2.0 Portal) के नाम से लॉन्च कर दिया गया है।

साथ ही इसमें वह तमाम चिंताएं दूर की गई हैं, जिनकी मांग काफी समय से की जा रही थी। इनकम टैक्स डॉट गव डॉट इन (https://www.incometax.gov.in/) के नाम से यह वेबसाइट 7 जून से लांच हो चुकी है। यहाँ तमाम टैक्सपेयर्स को इस नई वेबसाइट पर अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी अपडेट करने को कहा गया है, और इसके पीछे कारण यह बताया गया है कि सिक्योरिटी रीजन की वजह से कुछ कुछ डाटा अगर यूजर ही अपडेट करें, तो बेहतर होगा।

इसे भी पढ़ें: घर बैठे फ्री में चेक करें पल्स रेट व ऑक्सीजन लेवल, यह हैं हेल्थकेयर ऐप्स

इस बात में कोई संदेह नहीं है कि इस नए पोर्टल में ई फाइलिंग काफी आसान हो जाएगी। ख़ास बात यह है कि इस वेबसाइट से इनकम टैक्स फाइलिंग के अलावा भी इससे जुड़ी तमाम सर्विसेज आपको आसानी से उपलब्ध होंगी।

आइए जानते हैं कि वह कौन-कौन सी सुविधाएं है, जो आपको यह नयी वेबसाइट दे रही है।

इस नए इंटरफेस में आईटीआर-1 और आईटीआर-4 फॉर्म आप खुद भर पाएंगे। इसके लिए आपको किसी प्रोफेशनल की जरूरत नहीं होगी। अक्सर इनकम टैक्स भरने के लिए लोग किसी प्रोफेशनल की सहायता लेते थे, लेकिन यहां पर यूजर इंटरफेस इतना आसान है कि डैशबोर्ड पर नोटिस से लेकर नोटिफिकेशन आदि सब एक जगह ही देख सकेंगे। ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मेथड्स से अपना इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) सॉफ्टवेयर की मदद से आप भरें। इस सुविधा के लिए किसी प्रकार का कोई चार्ज नहीं है, यह बिल्कुल मुफ्त है। वहीं पहले इसके लिए टैक्सपेयर्स किसी प्रोफेशनल की सहायता लेते थे।

साथ ही सैलरी, एचआरए प्री फिल्ड (पहले से भरे हुए) आपको मिलेंगे, जिसमें आप संशोधन कर सकते हैं, और कोई दिक्कत आये तो वीडियो ट्यूटोरियल के माध्यम से आप अपना रिटर्न आसानी से भर सकेंगे।

इसे भी पढ़ें: इन आपरेटिंग सिस्टम्स में एंटीवायरस की नहीं है जरूरत, करें इंस्टॉल

बताया जा रहा है कि नए पोर्टल में आईटीआर के प्रोसेस होने में पुराने सिस्टम की तरह बहुत ज्यादा समय नहीं लगेगा, और ऐसे में यह प्रक्रिया टैक्सपेयर को रिफंड की सुविधाएं तुरंत दे सकेगी। बेहद यूजर फ्रेंडली इस वेबसाइट में आइटीआर फाइल करना, उसे रिव्यू करना एवं संबंधित एक्शन लेना काफी ईजी होने वाला है। ऑनलाइन एवं ऑफलाइन आइटीआर की तैयारी करने का सॉफ्टवेयर यहां पर मुफ्त में दिया गया है, जो पहले किसी प्रोफेशनल की सहायता लेने के बाद आपको मिलता था, किंतु अब आप स्वयं ही इसे कर सकेंगे। टैक्सपेयर को प्री फाइलिंग का ऑप्शन भी इसमें दिया गया है, ताकि ऐन वक्त पर कम से कम डाटा एंट्री न करनी पड़े।

तकनीक के स्तर पर बात की जाए तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का नया पोर्टल, डेस्कटॉप वर्जन के साथ-साथ मोबाइल ऐप पर भी उपलब्ध होगा। मतलब आप मोबाइल से भी रिटर्न आसानी से फाइल कर सकेंगे।

एक और ज़रूरी सुविधा चैट की है।

इस वेबसाइट पर आम तौर पर पूछे जाने वालों सवालों और उनके जवाबों (एफएंडक्यू) की सूची तो होगी ही, साथ में टैक्स से जुड़े कंटेंट, वीडियो व चैटबॉट भी मौजूद रहेगा, जो करदाताओं की शंका का समाधान करेगा। 

इसे भी पढ़ें: जानें कैसे करें यूज़ पॉप्यूलर ऑडियो चैट एप्प क्लबहाउस, क्यों है औरों से अलग?

इसके अलावा फिर भी कोई सवाल नहीं सुलझता है तो नए तैयार हुए कॉल सेंटर की मदद ली जा सकेगी।

मतलब पहले की चिकचिक की बजाय टैक्स पेईंग अब आसान हो गया है। आप भी एक बार विजिट करें नयी वेबसाइट और अपना फीडबैक हमसे अवश्य ही शेयर करें।

बताया जा रहा है कि आने वाले दिनों में इस पोर्टल में एक नया टैक्स पेमेंट सिस्टम लाया जाएगा, जिसमें नेट बैंकिंग, यूपीआई, आरटीजीएस, एनईएफटी आदि सुविधाएं होंगी, जिससे टैक्सपेयर का कार्य और भी आसान हो जाएगा। बता दें कि वेबसाइट की तमाम फैसिलिटीज अब मोबाइल ऐप पर भी उपलब्ध होने वाली है। हालांकि मोबाइल ऐप को 18 जून तक लांच करने की बात कही जा रही है।

- मिथिलेश कुमार सिंह