दिल्ली के वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है पराली का जलना

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 1 2019 4:40PM
दिल्ली के वायु प्रदूषण के लिए जिम्मेदार है पराली का जलना
Image Source: Google

स्वीडन की स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी के ऑगस्ट एंडरसन ने बताया कि जैव ईंधन जलने से पैदा होने वाले सूक्ष्म कण मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए बहुत खराब हैं और अन्य शहरों के मुकाबले नयी दिल्ली में इनकी मात्र बहुत ज्यादा है।

लंदन। नयी दिल्ली में सर्दी के मौसम में होने वाले भीषण प्रदूषण के लिए उस दौरान जलायी जाने वाली पराली का धुआं जिम्मेदार है। ‘नेचर सस्टैनेबिलिटी’ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक, जैव ईंधन के जलने से होने वाला प्रदूषण हमेशा पश्चिम एशिया के बड़े शहरों जैसे नयी दिल्ली में प्रदूषण का मुख्य कारण नहीं होता है। नयी दिल्ली में गर्मी के दिनों में 80 प्रतिशत वायु प्रदूषण जैव ईधन जलने से होता है जबकि सर्दियों में आसपास के क्षेत्रों में पराली का जलना प्रदूषण के लिए ज्यादा जिम्मेदार है।

भाजपा को जिताए

इसे भी पढ़ें: स्पेसएक्स को एक नये क्रू कैप्सूल के परीक्षण को मिली नासा की हरी झंडी

स्वीडन की स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी के ऑगस्ट एंडरसन ने बताया कि जैव ईंधन जलने से पैदा होने वाले सूक्ष्म कण मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए बहुत खराब हैं और अन्य शहरों के मुकाबले नयी दिल्ली में इनकी मात्र बहुत ज्यादा है। सर्दियों के दौरान नयी दिल्ली में प्रदूषक कणों का स्तर डब्ल्यूएचओ के मानदंड के मुकाबले 10 गुना ज्यादा बढ़ जाता है।


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story