DU में डिस्टेंस लर्निंग से कोर्स करने वाले छात्रों के लिए खुशखबरी, MBA समेत छह नए कोर्स शुरू

Prof Yogesh Kumar
ANI Image
रितिका कमठान । Oct 04, 2022 10:48AM
दिल्ली यूनिवर्सिटी में अब डिस्टेंस मोड से एमबीए की डिग्री भी छात्रों को मिल सकेगी। नए सेशन से डिस्टेंस मोड में एडमिशन की शुरुआत हो गई है।

डिस्टेंस एजुकेशन से एमबीए करने के लिए अब छात्र दिल्ली यूनिवर्सिटी में भी अप्लाई कर सकेंगे। कई वर्षों के इंतजार के बाद अब स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग के नए अकादमिक सेशन से एमबीए समेत कुल छह नए कोर्स की शुरुआत की गई है। इन कोर्स को यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. योगेश सिंह ने शुरू किया है, जिसमें डिस्टेंस मोड से मास्टर्स ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन यानी एमबीए भी शामिल है।

जानकारी के मुताबिक इन सभी कोर्स में एडमिशन की प्रक्रिया इस सप्ताह से शुरू हो जाएगी। इन कोर्स में एडमिशन लेने के इच्छुक छात्रों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आवेदन करने के लिए उम्मीदवार को https://sol.du.ac.in पर लॉगिन करना होगा। खास बात है कि यूनिवर्सिटी के एसओएल में 28 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद नए कोर्स की शुरुआत की गई है, जो आने वाले समय में छात्रों के लिए बहुत लाभदायक सिद्ध होंगे।

प्रो. योगेश कुमार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि चार स्नातक और दो स्नातकोत्तर कोर्स की शुरुआत एसओएल में की गई है। ये सभी कोर्स रोजगार उन्मुख और स्किल आधारित होगे। इन कोर्स के जरिए छात्रों को रोजगार मिलना आसान होगा। उन्होंने कहा कि समय के साथ जरूरतों में बदलाव होता है। इन जरूरतों को देखकर DDCE के जरिए ही नए कोर्स की शुरुआत की गई है। डिस्टेंस एजुकेशन की इच्छा रखने वाले छात्रों के लिए ये कदम काफी सकारात्मक सिद्ध होगा।

ये हैं नए कोर्स

एसओएल में एडमिशन लेने वाले छात्रों को अब फाइनेंशियल इंवेस्टमेंट एनेलाइजेज, बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, बैचलर ऑफ आर्ट्स (ऑनर्स) इकोनॉमिक्स जैसे नए कोर्स में भी एडमिशन लेने का मौका मिलेगा। ये सभी कोर्स अंडर ग्रेजुएट लेवल पर शुरू हो रहे है। वहीं एबीए, बैचलर ऑफ लाइब्रेरी एंड इन्फॉर्मेशन साइन्स और मास्टर ऑफ लाइब्रेरी एंड इन्फॉर्मेशन साइन्स जैसे कोर्स की भी पहली बार एसओएल में शुरूआत हो रही है।

एसओएल के सभी कोर्स में एडमिशन लेने के इच्छुक उम्मीदवारों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। कोर्स में दाखिला लेने के लिए मांगी गई एलिजिबिलिटी के संदर्भ में छात्र आधिकारिक वेबसाइट से जानकारी ले सकते है। 

MBA में होंगी सीमित सीटें

एमबीए में सिर्फ 20 हजार सीटें ही रखी गई है। वहीं अन्य सभी कोर्स में सीटों की कोई सीमा नहीं है। जानकारी के मुताबिक एमबीए कोर्स में मेरिट के आधार पर एडमिशन दिया जाएगा। बात दें कि एसओएल के नए एकेडेमिक सेशन में सभी कोर्स में दाखिला NEP 2022 के तहत होंगे। इसके तहत अंडरग्रेजुएट करिकुलम फ्रेमवर्क के मुताबिक होंगे। ऐसे में ग्रेजुएशन के सभी नए कोर्स चार वर्षों के करिकुलम के अनुरुप तैयार किए गए है।

अन्य न्यूज़